DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ढाका वॉरियर्स आईसीएल की नौवीं टीम

नई दिल्ली का पंचतारा होटल। और उसका खचाखच भरा डिाायर हॉल। पुरातन साज सज्जा के साथ कुछ सैनिक और उनके बीच फंसे चार बांग्लादेशी खिलाड़ी प्रवेश करते हैं। मंच पर कपिल देव और किरण मोर बैठे हैं। चारों खिलाड़ी तलवारं लेकर मंच पर बैठते हैं। घोषणा होती है आईसीएल में खेलेंगे ढाका वारियर्स। अब सिकंदर के सेना की वेशभूषा वाले सैनिक चले गए और साथ ही खिलाड़ियों के हाथों से तलवारं भी गुम हो गईं। शुरू होता है सवालों का सिलसिला। बांग्लादेश टीम से संन्यास लेकर आईसीएल में भर्ती हुए मंच पर मौजूद चारों खिलाड़ी- हबीबुल बशर, शहरयार नफीस, आलोक कपाली, धिमान घोष ने कहा कि वे धन को लोभ में यहां नहीं आए हैं बल्कि इस नए स्वरूप में खेलने के इच्छुक हैं। लाहौर बादशाह के बाद यह दूसरी टीम है जिसमें एक ही देश के खिलाड़ी होंगे और एक शहर के नाम पर खेलेंगे। बांग्लादेश के 13 खिलाड़ी आईसीएल के दूसर संस्करण में ढाका वॉरियर्स के रूप में वीं टीम के रूप में शिरकत करंगे। यह प्रतियोगिता पंचकुला, नई दिल्ली, गुड़गांव और अहमदाबाद, चार स्थलों में 10 अक्तूबर से शुरू होगी। अक्तूबर से ऑस्ट्रेलिया और भारत का पहला टेस्ट शुरू होने जा रहा है। क्या इससे फर्क नहीं पड़ेगा। इस पर कपिल देव का कहना था कि हमार बाजुओं में दम है। हमारा टूर्नामेंट दबता है तो दबे। हमें अपने आप पर विश्वास है। आप मीडिया चाहें तो वह कवर करं चाहे हमें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ढाका वॉरियर्स आईसीएल की नौवीं टीम