अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाइपावर कमेटी के पास

अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर के स्टील और पावर प्लांट लगाने के प्रस्ताव पर राज्य सरकार का रुख सकारात्मक है। कंपनी ने 18 अगस्त को इस आशय का प्रस्ताव दिया था। उद्योग विभाग ने रिलायंस के प्रस्ताव को एमओयू के विचार के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली हाइपावर कमेटी के पास भेज दिया। एमओयू हो जाने के बाद कंपनी आगे कदम बढ़ायेगी।ड्ढr राज्य में रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर ने स्टील और पावर के क्षेत्र में 63 हाार करोड़ रुपये निवेश करने का प्रस्ताव दिया है। स्टील प्लांट के 35 हाार करोड़ और पावर सेक्टर में 28 हाार करोड़ रुपये निवेश किया जायेगा। इससे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगभग 50 हाार रोगार के अवसर मिलेंगे।ड्ढr रिलायंस के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट बाला सुब्रमण्यम नारायण ने उद्योग विभाग के समक्ष प्रस्ताव रखते हुए एमओयू कराने का आग्रह किया है। रिलायंस ने सरायकेला-खरसांवा जिले के गोविंदपुर में दोनो परियोजनाएं लगाने का मन बनाया है। उपायुक्त सरायकेला के पास आवेदन दिया गया है। कंपनी 12 मिलियन टन स्टील का उत्पादन प्रतिवर्ष करगी। 4 हाार मेगावाट का पावर प्लांट स्थापित किया जायेगा। पहले चरण में पावर के क्षेत्र में 12 हाार करोड़ रुपये का निवेश होगा। दोनों परियोजनाओं के लिए कंपनी को 12 हाार एकड़ जमीन चाहिए।ड्ढr स्टील उत्पादन के लिए कंपनी को प्रतिवर्ष 23 मिलियन टन आयरन ओर की जरूरत पड़ेगी। पावर के लिए 11 मिलियन टन कोयला की जरूरत होगी। एमओयू हो जाने के बाद कोयला ब्लाक और आयरन ओर माइंस के लिए प्लान सहित आवेदन दिया जायेगा।ड्ढr रिलायंस की ओर एमओयू की तिथि जल्द निर्धारित कराने के लिए उद्योग विभाग के समक्ष आवेदन दिया गया है। रिलायंस ने स्टील के क्षेत्र में झारखंड को वरीयता दी है। पावर के क्षेत्र में रिलायंस पहले से ही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हाइपावर कमेटी के पास