अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गर्भवती महिला की मौत पर हंगामा

थति का अध्ययन करने काठमांडू जायेंगे सरयू राय सदर अस्पताल में मंगलवार को एक गर्भवती महिला की मौत के बाद परिानों व शिव सैनिकों ने समाहरणालय परिसर में भारी बवाल मचाया। शिवसेना के प्रदेश उप प्रमुख नित्यानन्द प्रसाद के नेतृत्व में समर्थकों ने शव के साथ समाहरणालय मुख्य द्वार को घंटों जाम रखा।ड्ढr प्राप्त जानकारी के अनुसार जमुआ प्रखंड अन्तर्गत पोबी गांव के छेदीलाल रविदास की पत्नी धनेश्वरी देवी(30) को सोमवार साढ़े ग्यारह बजे सदर अस्प्ताल में भर्ती कराया गया। ड्यूटी पर तैनात डा. मनीषा जालान ने महिला के भर्ती होने के बाद उसकी जांच की। जांच के बाद डा. जालान ने उक्त महिला को रक्त की कमी बता रक्त उपलब्ध कराने को कहा। धनेश्वरी के भाई राजू रविदास ने बताया कि सोमावर को देखने के बाद डा. जालान दोबारा देखने नहीं आयीं जबकि ड्यूटी पर तैनात नर्सो से राजू ने कई बार गुहार लगायी।ड्ढr राजू ने बताया कि रक्त की तलाश में जब सदर अस्पताल के ब्लड बैंक में गया तो वहां रक्त उपलब्ध नहीं कराया गया। राजू के अनुसार सुबह साढ़े सात बजे तक उसकी बहन एकदम ठीक थी। नाश्ता करने के बाद नर्स ने उसे इंजेक्शन दिया पर साढ़े आठ बजे के करीब उसकी हालत बिगड़ी और दस मिनट बाद ही उसकी मौत हो गई। मौत से बौखलाये परिानों ने सदर अस्पताल के बेड पर शव को रखकर डीसी कार्यालय को घंटो जाम रखा। काफी देर बाद दंडाधिकारी अनिल कुमार सिन्हा वार्ता के लिए पहुंचे। श्री सिन्हा ने आश्वस्त किया कि सरकारी प्रावधान के तहत मुआवजा दिलाने का भरसक प्रयास किया जाएगा। इधर डा. जालान ने कहा कि खून की कमी की बात परिानों को बता दी गई थी। उन्हें खून की व्यवस्था का भी निर्देश दिया गया था किन्तु वैसा कुछ भी नहीं किया और इस मामले में डॉक्टर के स्तर से कहीं कोई लापरवाही नहीं बरती गयी है। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गर्भवती महिला की मौत पर हंगामा