अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय शेयर बाजार में भुगतान संकट नहीं

अमेरिका के वित्तीय क्षेत्र में मची उठापटक के बावजूद भारतीय शेयर बाजारों में भुगतान का कोई संकट नहीं है। वित्त मंत्रालय ने बुधवार को इस बात का भरोसा दिलाया। वित्त मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि अमेरिकी उथलपुथल का भारतीय बाजारों पर कुछ असर तो हुआ है, लेकिन अभी तक सार पेमेंट किए जा रहे हैं और इसे लेकर किसी तरह की दिक्कत पेश नहीं आई है। सूत्रों के मुताबिक इस बात के भी ठोस संकेत नहीं हैं कि विदेशी संस्थागत निवेशक बाजार से बड़ी मात्रा में पैसा निकाल रहे हैं। वे शयरों से पैसा निकाल कर सरकारी प्रतिभूतियों या ऋण पत्रों में निवेश कर रहे हैं। इस बीच, केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री अश्विनी कुमार ने कहा कि अमेरिकी वित्तीय बाजार की मौजूदा उथल-पुथल का कुछ असर पड़ना तय है, लेकिन यह मामूली होगा। मेरा मानना है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मौजूदा उथल पुथल अस्थाई है। उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था के मूलभूत तत्व मजबूत है। मौजूदा वित्त वर्ष में आर्थिक विकास की दर आठ प्रतिशत रहने की संभावना है तथा सरकार अगले कुछ वर्षों में ढांचागत क्षेत्रों के विकास में 450 अरब डालर खर्च करने जा रही है। यह पूछे जाने पर कि यदि अमेरिकी संसद भारत के साथ हुए परमाणु करार को खारिज कर दे तो भारत क्या करेगा, उन्होंने कहा वह काल्पनिक सवालों का कोई जवाब नहंी दे सकते।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारतीय शेयर बाजार में भुगतान संकट नहीं