DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘गुजरात आतंकवाद के सामने मुजरा नहीं करेगा’

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि आतंकवाद से निबटने के लिए उनका राय मुजरा नहीं करेगा और वह लंबी लड़ाई के लिए एक नया रक्षा-तन्त्र खड़ा करेगा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई द्वारा आतंकवाद के खिलाफ रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि आतंकवाद से लड़ने के लिए दो बातों सुरक्षा और तकनीक पर ध्यान दिए जाने की जरुरत है और इस दिशा में राय सरकार ने पहल कर दी है। आतंकवाद से निपटने के लिए राय में एक नया वर्ग तैयार करने के लिए रक्षा शक्ित विद्यालय और तकनीकी जरुरतों को पूरा करने के लिए फोरेंसिक विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी। उन्होंने कहा गुजरात आतंकवाद के सामने मुजरा नहीं करेगा और वह इसके खिलाफ लंबी लड़ाई के लिए पूरी तरह से तैयार हो रहा है। रैली को भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार लाल कृष्ण आडवाणी, पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह, लोकसभा में विपक्ष के उपनेता विजय कुमार मल्होत्रा, महासचिव अरुण जेटली और विजय गोयल, प्रदेश इकाई के अध्यक्ष हर्ष वर्धन, विधानसभा में विपक्ष के नेता जगदीश मुखी समेत कई अन्य नेताआें ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जब तक वोट बैंक के लिए आतंकवाद को पनाह दी जाती रहेगी, इसे खत्म नहीं किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि देश से आतंकवाद को जड मूल से नष्ट करने के लिए एक मन और एक स्वर से लड़ाई लड़नी होगी। मोदी ने कहा कि आतंकवाद का दंश हम कई दशकों से भुगत रहे हैं और अब यह नए-नए रुप में सामने आ रहा है। आतंकवादी घटनाएं होने पर कुछ समय के लिए इसके खिलाफ एक तूफान खड़ा होता है किंतु फिर सबके अपने-अपने काम में जुट जाने से यह उफान शांत हो जाता है, किंतु अब समय आ गया है कि इसके खिलाफ नरमी कतई नहीं दिखाई जाए। उन्होंने आतंकवाद को कुचलने के लिए कड़े कानून की खिलाफत करने वालों पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि उन लोगों को यह फिक्र बहुत सता रही है कि कड़े कानून से कहीं निदर्ोष लोग नहीं फंस जाएं, किंतु उन्हें आतंकवाद की घटनाआें में मारे जा रहे बेकसूर लोगों की कोई चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि यह कैसा तर्क हैं कि निदर्ोष को मरने दो किंतु निदर्ोष पकड़ा नहीं जाए। उन्होंने सवाल किया कि देश में हत्या के अपराध के लिए 302 की धारा है, तो क्या किसी निदर्ोष के पकड़े जाने पर इसे खत्म कर दिया जाएगा। मोदी ने बताया कि गुजरात की पुलिस जब राय के बम विस्फोटों के सिलसिले में अबू बशर को उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में पकड़ने गई तो उसे सात दिन तक रोका गया। उन्होंने कहा कि बड़े आश्चर्य की बात है कि कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी के कई नेता अबू बशर के घर पहुंच गए। उन्होंने मांग की कि इन नेताआें को इस बात का खुलासा करना चाहिए कि वह इससे पहले कितनी बार अबू बशर के घर गए थे। उन्हें अपने मित्रों की सूची भी जारी करनी चाहिए। मोदी ने कहा कि राय में आतंकवादी घटनाआें के बाद वह जब कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री से मिले थे तो उन्होंने बताया था कि गुजरात के बम विस्फोटों के सिलसिले में पकड़े गए लोगों से मिली जानकारी से यह पता चला है कि आतंकवादी दो शहरों में जल्दी धमाके करने वाले हैं जिनमें एक दिल्ली है। इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राय में आतंकवादी घटनाआें के बाद यदि उन्हें राजनीति करनी होती तो वह मीडिया में चले जाते, किंतु उन्हें दिल्ली के लोगों की चिंता थी और इसलिए वह प्रधानमंत्री से मिले थे। इसके बाद गृहमंत्री शिवराज पाटिल से भी मुलाकात कर इस संबंध में जानकारी दी थी। उन्होंने अपेक्षा की थी कि इसके बाद केन्द्र कोई कड़ा कदम उठाएगी, किंतु ऐसा नहीं हुआ और इतना बड़ा हादसा हो गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1में उन्होंने जब आतंकवाद के बारे में अमेरिका के रक्षा मंत्री से बातचीत की थी तो उस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया, किंतु वर्ल्ड ट्रेड सेंटर हादसे के बाद अमेरिका को भी आतंकवाद समझ में आया। उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद ब्रिटेन, पाकिस्तान, इंडोनेशिया, बंगलादेश और मलेशिया समेत तमाम मुस्लिम देशों ने आतंकवाद के खिलाफ कड़े कानून बनाए किंतु हमारे देश में पोटा जैसे कानून को खत्म कर दिया गया। उन्होंने कहा कि यह बड़े आश्चर्य की बात है कि हम पुलिस को एके-47 जैसे आधुनिक हथियार तो उपलब्ध करा रहे हैं, किन्तु आतंकवादियों को भयभीत करने के लिए कड़े कानून बनाने से कतरा रहे है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘गुजरात आतंकवाद के सामने मुजरा नहीं करेगा’