अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओलंपिक विजेताओं सहित धौनी को बधाई

झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र 1सितंबर को आरंभ हुआ। प्रारंभिक औपचारिकताओं के बाद देश-राज्य के विभूतियों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि देने के बाद सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित हो गयी। इसके पहले सदन की ओर से एकदिवसीय क्रिकेट में पूर विश्व में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का गौरव हासिल करनेवाले रांची के लाल महेंद्र सिंह धौनी को बधाई दी गयी। ओलंपिक खेल में देश का नाम रौशन करने वाले स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा और कांस्य पदक हासिल करनेवाले सुशील कुमार एवं विजेंद्र कुमार को भी सदन ने बधाई दी।ड्ढr सदन की कार्यवाही शुरू होते ही अपने आरंभिक वक्तव्य में स्पीकर आलमगीर आलम ने कहा कि नयी सरकार विधानसभा के चालू सत्र में अपना अनुपूरक बजट पेश करगी। इसके औचित्य पर पर्याप्त चर्चा की जायेगी। उन्होंने कहा कि 23 माह तक मधु कोड़ा राज्य के मुख्यमंत्री रहे। सदन नेता के रूप में उनकी भूमिका सराहनीय रही। लोकतंत्र की संसदीय प्रणाली में सरकारों का बदलना और नेतृत्व परिवर्तन एक सामान्य घटना है। स्पीकर ने कहा कि विधानसभा का बहुमत आज वर्तमान मुख्यमंत्री शिबू सोरन के साथ है। उम्मीद की जाती है कि सरकार को सभा की भावना के अनुरूप चलाकर राज्य की तीन करोड़ जनता की अपेक्षाओं को पूरा करने में वह सफल हो सकेंगे। स्पीकर ने सदन में शोक प्रस्ताव पेश किया। पिछले सत्र से अब तक कई राजनेताओं, समाजसेवियों और उद्यमियों का निधन हो गया, जिन्हें सदस्यों ने याद किया। इनके कृत्यों पर प्रकाश डालते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी गयी।ड्ढr 25 को ही समाप्त होगा सत्र : मानसून सत्र 26 की बजाय 25 सितंबर को ही समाप्त हो जायेगा। सदन की बैठक के बाद कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। पूर्वघोषित 26 सितंबर की कार्यवाही 25 सितंबर को सदन में निपटायी जायेगी। 22 सितंबर को दो से चार बजे तक बाढ़ और सुखाड़ पर विशेष चर्चा होगी। 25 को राजकीय विधेयक एवं अन्य राजकीय कार्य निबटाये जायेंगे।ड्ढr पलामू- गढ़वा में सुखाडड़्ढr विस में ध्यानाकर्षण लायेंगेड्ढr जदयू विधायक राधाकृष्ण किशोर ने पलामू - गढ़वा में सुखाड़ के मुद्दे पर विस में ध्यानाकर्षण प्रस्ताव दिया है। किशोर ने कहा है कि पलामू में भदई फसल मारी गयी है। गढ़वा में तो खरीफ- भदई दोनों का नुकसान हुआ है। किसानों के लिए फसल बीमा योजना पर भी किशोर ने सवाल खड़े किये हैं। उन्होंने कहा है कि दो साल से किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ नहीं मिला है। पिछले साल पलामू में 44000 किसानों ने बीमा कराया था। इस साल 22 हाार किसानों ने ही बीमा कराया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ओलंपिक विजेताओं सहित धौनी को बधाई