DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विजयी भाव से अमेरिका व फ्रांस जा रहे हैं पीएम

प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह नौ दिन की अमेरिका व फ्रांस की यात्रा पर 22 सितंबर को न्यूयार्क के लिए रवाना होंगे। न्यूयार्क में उन्हें 26 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 63वें अधिवेशन को संबोधित करना है लेकिन उससे पहले वह 25 सितंबर को वाशिंगटन जाएंगे जहाव व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज डब्लू बुश से मुलाकात करंगे। यदि 26 सिंतबर को अमेरिकी कांग्रेस के अधिवेशन के समाप्त होने से पहले भारत-अमेरिकी 123 परमाणु समझौते का अनुमोदन हो जाता है तो दोनों नेता समझौते पर हस्ताक्षर करंगे। दोनों नेता गत जून में जी-8 देशों की बैठक के दौरान अलग से मुलाकात के दौरान उठाए गए कई कदमों की समीक्षा भी करंगे। 26 सितंबर को प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करंगे। विदेश सचिव शिव शंकर मेनन ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में आतंकवाद प्रमुख मुद्दा रहेगा। इसके अलावा वह विश्व अर्थ व्यवस्था, गरीबी, भुखमरी, खाद्य समस्या के अलावा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के विस्तार पर अपने विचार रखेंगे। भारत सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बनने का दावेदार है। 27 सितंबर को न्यूयार्क में भारतीय समुदाय से भी मुलाकात करंगे। न्यूयार्क में प्रधानमंत्री की मुलाकात पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी व चीन के प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ से भी हो सकती है। इसके लिए तिथि निर्धारित की जा रही है। चीनी प्रधानमंत्री के साथ सीमा समस्या के समाधान पर बातचीत हो सकती है। फ्रांस के साथ परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर: प्रधानमंत्री 2और 30 सितंबर को फ्रांस में मार्सेई जाएंगे। वहां राष्ट्रपति निकोलस सरकोी के साथ परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। एक उड्डयन समझौते पर भी हस्ताक्षर होने की संभावना है। प्रधानमंत्री 2सितम्बर को भारत-यूरोपीय संघ शिखर वार्ता के दौरान रणनीतिक साझेदारी को मजबूत बनाने तथा द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ाने के उपायों पर चर्चा करेंगे। अगले दिन 30 सितंबर को राष्ट्रपति सरकोी के साथ परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर की संभावना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विजयी भाव से अमेरिका व फ्रांस जा रहे हैं पीएम