DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नम आंखों ने दी शहीद शर्मा को अंतिम विदाई

राजधानी में जामिया नगर के बटला हाऊस में शुक्रवार को आतंकवादियों से लोहा लेते हुए जान न्यौछावर करने वाले पुलिस निरीक्षक मोहन चंद शर्मा का शनिवार को दोपहर बाद पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। शर्मा को मुखाग्नि उनके पिता ने दी। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत ने बताया कि शाम चार बजे निगम बोध घाट पर शर्मा का अंतिम संस्कार पूर राजकीय सम्मान के साथ किया गया। जांबाज शर्मा को अंतिम विदाई देने के लिए नेताओं का भारी जमावड़ा लगा। गृहमंत्री शिवराज पाटिल, विपक्ष के नेता लाल कृष्ण आडवाणी, दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, वरिष्ठ भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी सहित कई नेता मौजूद थे। शनिवार सुबह द्वारका में शर्मा के निवास स्थान पर उनको श्रद्धांजलि देने वालों की भीड़ जमा थी। इससे पहले फूलों से सजे वाहन में जैसे ही उनका शव दक्षिण पश्चिमी दिल्ली के द्वारका स्थित उनके घर लाया गया लोग ‘भारत माता की जय‘ और ‘एमसी शर्मा अमर रहे‘ के नारे लगाने लगे। दिल्ली पुलिस की एक टुकड़ी ने सात बहादुरी पदक प्राप्त कर चुके शर्मा को सलामी दी। श्री शर्मा के परिवार में उनकी पत्नी एक बेटा और एक बेटी है। कीíत नगर के एक अस्पताल में भर्ती डेंगू से ग्रस्त उनके बेट को भी घर लाया गया ताकि वह भी अपने बहादुर पिता को विदाई दे सके।ड्ढr ड्ढr अखिल भारतीय आयुर्वज्ञिान संस्थान (एम्स) से पोस्टमार्टम के बाद उनका शव द्वारका के सेक्टर चार स्थित उनके घर ओम सत्यम अपार्टमेंट्स लया गया। जब दाह संस्कार के लिए उनके शव को निगम बोध घाट ले जाया जाने लगा तो लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। 43 साल के मोहन चंद शर्मा करीब 1साल से दिल्ली पुलिस में थे। शुक्रवार को आतंकवादियों के साथ हुई भीषण मुठभेड़ में घायल होन के बाद उनका अस्पताल में निधन हो गया था। मुठभेड़ विशेषज्ञ के रूप में मशहूर श्री शर्मा बहादुरी के लिए राष्ट्रीय पदक सहित सात बहादुरी पदक हासिल कर चुके थे। शर्मा 1में दिल्ली पुलिस में बतौर उप निरीक्षक भर्ती हुए थे। उन्होंने पुलिस में सेवा के दौरान 35 आतंकवादियों को मारा और 80 अन्य को गिरफ्तार किया। उन्होंने 40 अंतरराज्यीय सरगनाओं को भी ढेर किया और 12अन्य को गिरफ्तार किया। उल्लेखनीय है कि बटला हाऊस में दिल्ली पुलिस और आतंकवादियों के बीच शुक्रवार को मुठभेड़ में दिल्ली पुलिस के निरीक्षक शर्मा शहीद हो गए थे। इस मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए थे और एक को गिरफ्तार कर लिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नम आंखों ने दी शहीद शर्मा को अंतिम विदाई