DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब मेधा के बल पर ही आगे बढ़ेगा सूबा: मंत्री

विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्री डा. अनिल कुमार ने कहा कि लाठी का जमाना चला गया, अब कलम का जमाना है। झारखंड अलग होने के बाद यहां उद्योग व खनिज संपदा आदि कुछ भी नहीं बचा। लेकिन प्रतिभा की आज भी कोई कमी नहीं है। शुक्रवार की देर रात पालीगंज में विश्वकर्मा चेतना मंच द्वारा आयोजित प्रांतीय विश्वकर्मा महोत्सव का उद्घाटन करते हुए मंत्री ने कहा कि बच्चों को काबिल बनाएं।ड्ढr उनकी पढ़ाई लिखाई पर पूरा ध्यान दें गार्जियन। क्योंकि अब मेधा व प्रतिभा के बल पर ही आगे बढ़ेगा बिहार। जदयू किसान सेल के प्रदेश अध्यक्ष डा. अशोक वर्मा ने कहा कि अभी बिहार देश का नंबर वन राज्य बनने की ओर अग्रसर है। भाजपा नेत्री डा. उषा विद्यार्थी ने कहा कि इस सरकार में महिलाओं का भविष्य उज्जवल है।ड्ढr ड्ढr इस मौके पर विश्वकर्मा चेतना मंच के प्रदेश अध्यक्ष विनय मिस्त्री ने पांच सूत्री प्रस्ताव पेश कर सत्ता व राजनीतिक संगठन में समाज की प्र्याप्त भागेदारी सुनिश्चित करने की मांग की। समारोह की अध्यक्षता अशोक विश्वकर्मा ने की। बाद में भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी लोगों ने रातभर जमकर लुत्फ उठाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब मेधा के बल पर ही आगे बढ़ेगा सूबा: मंत्री