DA Image
9 अप्रैल, 2020|3:26|IST

अगली स्टोरी

राजभवन खुद नियुक्त करगा रचिास्ट्रार

रांची यूनिवर्सिटी, सिदो-कान्हू मुमरू और विनोबा भावे यूनिवर्सिटी हाारीबाग में रािस्ट्रार के पद रिक्त हैं। झारखंड राज्य संशोधित विवि अधिनियम 2000 को दरकिनार करते हुए राजभवन ने तीनों यूनिवर्सिटी से पुराने विवि अधिनियम की धारा 15 के तहत अधिकारियों के नाम मांगे हैं। इन नामों में से ही राज्यपाल सह कुलाधिपति रािस्ट्रार की नियुक्ित करंगे। जबकि पिछली बार राज्य के यूनिवर्सिटी में रािस्ट्रारों की नियुक्ित संशोधित विवि अधिनियम के तहत जेपीएससी की अनुशंसा पर हुई थी। विनोबा भावे यूनिवर्सिटी के रािस्ट्रार का कार्यकाल पूरा हो चुका है, जबकि सिदो-कान्हू यूनिवर्सिटी के सिंडीकेट ने वहां के रािस्ट्रार को हटा दिया है। रांची यूनिवर्सिटी के रािस्ट्रार डॉ एलएन भगत का भी टर्म 20 सितंबर को पूरा हो गया। रांची यूनिवर्सिटी पहले ही नये रािस्ट्रार की नियुक्ित के लिए तीन नाम राजभवन को भेज चुकी है। इनमें डॉ एलएन भगत सहित प्रॉक्टर डॉ ज्योति कुमार और सीसीडीसी डॉ अजीत सहाय के नाम शामिल हैं।ड्ढr क्याहै अधिनियम मेंड्ढr पुराने विवि अधिनियम की धारा 15 में कहा गया है कि कुलाधिपति यूनिवर्सिटी या राज्य सरकार से तीन अधिकारियों के नाम मांगेंगे। इसमें एक की नियुक्ित वह करंगे। संशोधित विवि अधिनियम 2000 का निर्माण अलग राज्य गठन के बाद हुआ। इसके मुताबिक राज्य सरकार या यूनिवर्सिटी से प्राप्त नामों पर जेपीएससी विचार कर और योग्यता की जांच कर नामों की अनुशंसा करगा। जेपीएससी की अनुशंसा के आधार पर कुलाधिपति रािस्ट्रार की नियुक्ित करंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: राजभवन खुद नियुक्त करगा रचिास्ट्रार