अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘तारे जमीं पर’ ऑस्कर की सर्वश्रेष्ठ दावेदार

इस वर्ष के प्रतिष्ठित ऑस्कर पुरस्कार के लिए नामित आमिर खान की मर्मस्पर्शी फिल्म ‘तारे जमीं पर’ को समीक्षक से लेकर फिल्मी जगत की जानमानी हस्तियों का पूरा समर्थन प्राप्त है और इसे ऑस्कर का सर्वश्रेस्ठ दावेदार माना जा रहा है। इस फिल्म का तानाबाना एक डायस्लेक्िसक बच्चे ईशान पर बुना गया है। ईशान की उस पीड़ा को मौन की भाषा और संगीत में बखूबी पिरोया गया है, जिसे उसे अपने माता-पिता और शिक्षकों की उपेक्षा में पल-पल जीना पड़ता है। पिछले वर्ष विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म ‘एकलव्य’ को इस पुरस्कार की दौड़ में शामिल किए जाने पर बवाल मचाया गया था, जबकि ‘तारे जमीं पर’ एकमत से भारतीय सिनेमा की बेहतरीन कृति मानी जा रही है। फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया ने इसे ऑस्कर के लिए अधिकृत रूप से भेजने के अपने फैसले की घोषणा हाल ही में की है।ड्ढr ड्ढr ‘तारे जमीं पर’, मराठी फिल्म ‘वालु एवं टिंग्या’, निशीकांत कामत की फिल्म ‘मुम्बई मेरी जान’, नीरज पांडे की ‘ए वेडनसडे’, आशुतोष गावरीकर की ‘जोधा अकबर’, फरहान अख्तर की ‘रॉक आन’, सुभाष घई की ‘ब्लैक एंड व्हाईट’ एवं तमिल फिल्म ‘ज्ञानम’ जैसी उत्कृष्ट श्रेणी की फिल्मों से कड़ा मुकाबला के बाद इस मुकाम पर पहुंची है। सभी वगोर्ं एवं उम्र के लोगों के दिलों को छू लेने वाली इस फिल्म की तारीफ करते हुए सुपर स्टार अमिताभ बच्चन ने कहा ‘तारे जमीं पर’ भारतीय फिल्म उद्योग की एक बेमिसाल फिल्म है। इसमें कोई दो राय नहीं है कि भारत की तरफ से ऑस्कर के लिए भेजे जाने के लिए इसमें सभी खूबियां मौजूद हैं। फिल्म निर्माता रवि चोपडा ने कहा कि ‘तारे जमीं पर’ एक विश्व स्तरीय फिल्म है। इस फिल्म से यह साबित हो गया है कि भारतीय फिल्म निर्माता भी विश्व स्तर की फिल्म बनाने में सक्षम हैं। सच पूछा जाए तो यह फिल्म आस्कर पुरस्कार की तगड़ी दावेदार है। इस बीच ‘टिंग्या भी ऑस्कर पुरस्कारों की दौड़ में शामिल हो गई है। मराठी फिल्म को निर्माताआें ने स्वतंत्र रूप से भेजने का निर्णय किया है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘तारे जमीं पर’ ऑस्कर की सर्वश्रेष्ठ दावेदार