DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

..तो मारे जाते पाक के शीर्ष नेता

इफ्तार पार्टी के आयोजन स्थल में आखिरी समय बदलाव से शनिवार को इस्लामाबाद में हुए बम धमाके में पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी, प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी, नेशनल असेंबली की स्पीकर फहमीदा मिर्जा और सेना प्रमुख अशफाक परवेज कयानी समेत अनेक मंत्रियों व विदेशी राजनयिकों की जान बच गई। पाकिस्तान के गृहमंत्री रहमान मलिक ने यहां हमले में मारे गए चेक गणराज्य के राजदूत के लिए आयोजित प्रार्थना सभा के मौके पर सेामवार को पत्रकारों को यह जानकारी देते हुए बताया कि जिस दिन मैरियट होटल पर आत्मघाती हमला हुआ था उस दिन इन शीर्ष नेताओं और राजनयिकों की इफ्तार पार्टी इसी होटल में आयोजित होनी थी लेकिन आखिरी समय में पार्टी का स्थान बदल दिया गया। मलिक ने हालांकि पार्टी के पूर्व निर्धारित समय के बारे में विस्तार से कुछ नहीं बताया लेकिन इतना जरूर कहा कि आखिरी चंद मिनटों में स्थान बदलने का फैसला लिया गया। उन्होंने कहा कि मिर्जा ने मैरियट होटल में इन नेताओं, मंत्रियों और कई विदेशी राजनयिकों के लिए इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था। लेकिन आखिरी समय में जरदारी ने पार्टी प्रधानमंत्री आवास में करने की फरमाइश कर डाली। उन्होंने बताया कि दो दिन पहले ही संसद पर हमले संबंधी खुफिया जानकारी मिली थी। लिहाजा, ‘हमने पूरे शहर में सुरक्षा के तगड़े इंतजाम किए थे।’ सात संदिग्ध हिरासत मं : होटल मैरियट मं हुए विस्फोटों क मद्दनजर सोमवार को सात संदिग्धों को हिरासत मं लिया गया है। इस्लामाबाद विस्फोटों की जांच मं क्लोज सर्किट टलीविजनों (सीसीटीवी) स काफी मदद मिल रही है। इस बीच सीसीटीवी क कुछ नमूनों को जांच क लिए ब्रिटन भी भेजा गया है। एक फोरंसिक विशेषज्ञ न बताया, ‘निश्चित तौर पर हमार यहां फोरंसिक प्रयोगशालाएं हैं लकिन पश्चिम क दशों की प्रयोगशालाओं की गुणवत्ता बहतर है। इसक पीछ एक मकसद यह भी है कि फोरंसिक जांच मं एक स अधिक विचार सामन आए।’ इधर पाक सरकार ने होटल मैरियट पर बम हमले की जांच में सहयोग का अमेरिकी प्रस्ताव ठुकरा दिया है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, पाकिस्तान के गृह मंत्रालय के सलाहकार रहमान मलिक ने रविवार को यहां पत्रकारों को इसकी जानकारी देते हुए कहा, ‘हमें किसी की मदद की जरूरत नहीं हैं। हम अपना काम करने में सक्षम हैं।’ अमेरिका ने पाकिस्तान सरकार से विस्फोट मामले की जांच में अपनी संघीय जांच एजेंसी की मदद की पेशकश की थी। गैर सरकारी संगठन ‘इंटनेशनल क्राइसिस ग्रुप’ की निदेशक समीना अहमद ने कहा, ‘मेरियट होटल पर हमला आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका की अंतरराष्ट्रीय मुहिम में पाकिस्तान की सक्रिय भागीदारी को लेकर एक बार फिर लंबे विवाद को जन्म देगा।’ तीन माह में फिर बन जाएगा मैरियट : इस्लामाबाद में आतंकवादी हमले में ध्वस्त हुआ पांच सितारा होटल मैरियट तीन माह में फिर बनकर तैयार हो जाएगा। होटल के मालिक सद्रूद्दीन हशवानी ने कहा कि करीब 50 करोड़ रुपये से नया मैरियट होटल बनाने की योजना है। हशवानी की इस घोषणा से होटल के करीब एक हजार कर्मचारियों ने राहत की सांस ली है, क्योंकि विस्फोट में होटल के ढह जाने के कारण उनके समक्ष बेरोजगारी का संकट पैदा हो गया था। अंग्रेजी दैनिक ‘द न्यूज’ ने हशवानी के हवाले से कहा, ‘मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि होटल का एक भी कर्मचारी बेरोजगार नहीं होगा। होटल के निर्माण के दौरान भी सबको वेतन मिलेगा।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ..तो मारे जाते पाक के शीर्ष नेता