अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेज गेंदबाज निभाएंगे अहम भूमिकचचा : गिलेस्पी

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जेसन गिलेस्पी ने भारत के कठिन दौरे के लिए तेज गेंदबाजों पर भरोसा करने के कप्तान रिकी पॉन्टिंग के नजरिए को जायज ठहराया है। वर्ष 2004 में हुए ऑस्ट्रेलिया के पिछले दौरे पर ग्लेन मैकग्रा और माइकल कॉस्प्रोविच के साथ गिलेस्पी भी घातक तिकड़ी में शामिल थे। इन गेंदबाजों की बदौलत विश्व चैम्पियन ने बेंगलूर और नागपुर टेस्ट जीतकर सीरीज पर 2-1 से कब्जा कर लिया था। गलेस्पी को पूरा भरोसा है कि इस बार भी यही रणनीति काम करेगी। गिलेस्पी ने कहा, ‘मैंने रिकी पॉन्टिंग को यह कहते हुए सुना है कि उनकी टीम 2004 की रणनीति पर ही अमल करेगी और मेरा मानना है कि यह सही फैसला होगा।’ पूर्व गेंदबाज ने कहा, ‘मुझे एक चीज याद है कि हमने भारतीय बल्लेबाजों की फिटनेस समस्याओं का भरपूर फायदा उठाया था। भारतीय खिलाड़ियों का दुनिया के सर्वाधिक फिट खिलाड़ियों की श्रेणी से दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं है। भारतीय क्रिकेटर आमतौर पर चौका छक्का लगाकर या केवल एक रन बनाकर ही स्कोर खड़ा करने में भरोसा करते हैं।’ गिलेस्पी ने कहा, ‘उस समय हमने क्षेत्ररक्षण के दौरान तीन या चार स्वीपरों को तैनात करने की नीति पर अमल किया और इसका बहुत अधिक फायदा मिला। खासकर यह रणनीति वीवीएस लक्ष्मण एवं वीरेन्द्र सहवाग के लिए ज्यादा कारगर साबित होती है।’ वह मानते हैं कि ऑस्ट्रेलिया की सफलता इस बात पर निर्भर करगी कि पॉन्टिंग एंड कम्पनी किस तरह मेजबान बल्लेबाजें की लचर फिटनेस का फायदा उठाती है। 2004 दौर में गिलेस्पी ने 16.15 की औसत से 20 विकेट झटके थे और ऑस्ट्रेलिया ने 35 वर्ष के लंबे अंतराल के बाद भारत में टेस्ट सीरीज जीती थी। गिलेसपी ने सिडनी मार्निंग हेराल्ड से कहा, ‘उस दौर की कई खुशनुमा यादें मेर साथ हैं। मैंने तब कई योजनाओं को अमल किया था। तैंतीस वर्षीय गिलेस्पी ने कहा कि भारत दौरे पर तेज गेंदबाज ब्रेट ली की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। पिछले दौरे पर ली सुरक्षित गेंदबाज थे। गिलेस्पी का मानना है कि बीते समय में हासिल अनुभव की वजह से अब ली प्रमुख गेंदबाज बन गए हैं और तेज आक्रमण का जिम्मा उनके कंधे पर होगा। उन्होंने कहा, ‘ली जैसे गेंदबाज को टीम से बाहर रखने के लिए हमें निश्चित तौर पर बेहतरीन गेंदबाजी करनी थी। मेरा मानना है कि टीम से बाहर बैठने की वजह से ली में टेस्ट मैचों के प्रति भूख जगी थी। एकादश में शामिल होने के लिए ली को कड़ी मेहनत करनी पड़ी और उनके लिए यह अच्छी बात थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तेज गेंदबाज निभाएंगे अहम भूमिकचचा : गिलेस्पी