अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्राहकों पर थोपा जा रहा ब्रांडेड तेल

पेट्रोल पंपों पर सामान्य तेल की जगह ब्रांडेड तेल ग्राहकों पर थोपने का नया फंडा शुरू किया गया है। राजधानी के बोरिंग रोड चौराहा स्थिति गैसोलिन पंप सहित कई पेट्रोल पंपों पर पिछले चार-पांच सप्ताह से शनिवार को सामान्य तेल खत्म हो जाता है और ग्राहकों पर मजबूरन लगभग 5 रुपए अधिक कीमत वाला ब्रांडेड तेल थोपा जाता है। गौर करने की बात यह है कि पंपोें पर प्रत्येक शनिवार को केवल सामान्य तेल ही खत्म हुआ है ब्रांडेड तेल नहीं। यह नया फंडा तेल कंपनियों का है कि पंप मालिकों का, इसे कोई स्वीकार नहीं करता है। दोनों इसका दोष एक दूसर पर थोपकर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। आईओसी के वरीय अधिकारी का कहना है कि डिपो में न तो सामान्य तेल की कमी है और न ही कंपनी की ओर से ब्रांडेड तेल बेचने का कोई दबाव। जबतक पंप के मालिक एडवांस पैसा डिपो में जमा नहीं करंगे तब तक किसी को पेट्रोल नहीं मिलेगा। इधर पंपों के मालिकों का कहना है कि पहले तेल कंपनी पंपों पर तेल पहुंचाने के बाद पैसा लेती थी परंतु पिछले एक दो महीने से कंपनी ने अपना तरीका बदल दिया है। अब कंपनी पहले बैंक ड्राफ्ट लेती है उसके बाद तेल भेजती है।ड्ढr साथ ही शनिवार की दोपहर बाद एवं रविवार को डिपो बंद रहता है। इस कारण ग्राहकों को परशानी हो रही है। इधर बिहार पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रभात कुमार सिंह का कहना है कि उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के निर्देश के बाद तेल कंपनी की ओर से पंपों का ब्रांडेड तेल बेचने के लिए प्रेशर नहीं दिया जा रहा है। कंपनी की ओर से ग्राहकों की मांग के अनुसार दोनोंे तेल बेचने का निर्देश दिया गया। श्री सिंह का यह भी कहना है कि सामान्य तेल की ब्रिकी अधिक होने से पंपों पर अकसर तेल खत्म हो जाता है लेकिन इसका हर शनिवार को ही खत्म होना, वह भी केवल सामान्य तेल, यह सोचने की बात है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ग्राहकों पर थोपा जा रहा ब्रांडेड तेल