अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नशाखुरानों ने फिर चार यात्रियों को लूटा

रेल प्रशासन की तमाम कवायदों के बावजूद नशाखुरान बेखौफ हैं। रलवे स्टेशनों पर नशाखुरानों से सावधान रहने की उद्घोषणाएं भी बेअसर हो गयी हैं। दिल्ली व पंजाब से आने वाले भोले-भाले यात्री आसानी से इसके शिकंजे में आ जा रहे हैं। खासकर दुर्गापूजा के नजदीक आते ही इनकी सक्रियता बढ़ गयी है। मंगलवार को भी पटना जंक्शन पर चार यात्री बेहोश उतार गए। इनके सार सामान रुपए -पैसे सब लेकर नशाखुरान चंपत हो गए। दुर्ग एक्सप्रस से आ रहे भिलाई(मध्यप्रदेश) के 65 वर्षीय पीतांबर सोनी को पिंडदान के लिए गया जाना था। लेकिन रास्ते में ही नशाखुरानों ने उन्हें किसी तरह बेहोश कर दिया। खगौल रल अस्पताल में इलाज करा रहे पीतांबर अभी भी अर्धबेहोशी की अवस्था में हैं। उन्होंने बताया कि उनके पास हीर-जवाहरात, पैसे व मोबाइल थे। हालांकि उनका इलाज कर रही नर्स ने बताया कि पैसे व मोबाइल हैं। वृद्ध यात्री के मुताबिक उसने हीर-जवाहरात गुप्त स्थान पर रखे थे।ड्ढr ड्ढr चिकित्सकों के मुताबिक भिलाई में उनके परिजनों को खबर कर दी गयी है। उन्हें पटना जंक्शन पर बेहोश उतारा गया। इधर जहानाबाद के 25 वर्षीय उमेश यादव, 24 साल के नीरज सिंह व भागलपुर के पवन मंडल से लगभग बीस हजार रुपए व सार सामान लूट लिये गए। दिल्ली से आने के दौरान पड़े और सबकुछ लुटा बैठे। संपूर्णक्रांति से इन्हें बेहोशी की अवस्था में उतारने के बाद इलाज के लिए दानापुर रल अस्पताल भेज दिया गया। रेल प्रशासन ने इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए लगातार प्रमुख स्टेशनों पर नशाखुरानों से सावधान रहने की उद्घोषणाएं करवा रहा है। दिल्ली व यूपी पुलिस को भी नशाखुरानों पर शिकांा कसने के लिए कारगर कदम उठाने को कहा गया है। स्टेशनों व साधारण बोगियों नशाखुरानों से संबंधित पोस्टर चिपकाए जा रहे हैं। जनसाधारण, संपूर्णक्रांति व मगध एक्सप्रेस में विशेष नजर रखी जा रही है। महीनेभर में 35 यात्री नशाखुरानी के शिकार हो चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नशाखुरानों ने फिर चार यात्रियों को लूटा