DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ेंकांग्रेस को चाहिए 15 बोर्ड-निगम

ांग्रेस विधायकों ने सीएम शिबू सोरन को प्रस्ताव दिया है कि उनकी पार्टी को दो मंत्री पद और 12 बोर्ड-निगम के अध्यक्ष का पद दिया जाये। यदि मंत्री पद देने में कठिनाई हो, तो 15 बोर्ड-निगम दिये जायें। विधायकों का कहना है कि बहुमत हासिल करने से पूर्व गुरुाी ने इस प्रस्ताव पर हामी भी भरी थी, लेकिन विश्वास मत हासिल करने के बाद वे वादा भूल गये। यही कारण है कि पार्टी के विधायक सरकार से नाराज थे। तीन विधायकों ने तो पार्टी के अंदर धमकी भी दी थी कि मनी बिल के समर्थन में वे वोट नहीं करंगे। विधानसभा के मानसून सत्र के प्रथम दो दिन अधिकांश कांग्रेसी विधायक सदन में सिर्फ उपस्थिति दर्ज कराने के लिए ही आये। सोमवार की रात मुख्यमंत्री शिबू सोरन ने नाराज विधायकों के साथ बात की। उन्होंने आश्वासन दिया कि सरकार अपने वायदे के मुताबिक ही काम करगी।ड्ढr इसके बाद ही कांग्रेसी विधायकों का गुस्सा ठंडा हुआ। पार्टी के एक नेता ने कहा है कि बुधवार को पार्टी के तमाम विधायक सदन में रहेंगे और सरकार का समर्थन भी करंगे, लेकिन सरकार को भी अपना वादा पूरा करना होगा। कांग्रेस ने बोर्ड-निगम का खाका भी तैयार कर लिया है। सबसे पहले पार्टी के सभी आठ विधायकों को एडजस्ट किया जायेगा। यदि दो मंत्री पद मिल गया, तो बोर्ड-निगम में छह को एडास्ट करके शेष छह सीटें सीनियर कांग्रेसी नेताओं को दी जायेगी। मंत्री पद नहीं मिलने पर नेताओं के लिए सात सीटें बचेंगी। इसके लिए सीएम से जल्द से जल्द पहल करने का अनुरोध किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ेंकांग्रेस को चाहिए 15 बोर्ड-निगम