DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वडोदरा में सुरक्षा ऐसी, कोई कुछ भी कर जाए

देश भर में क्रिकेटरों पर मैच के दौरान आतंकी हमलों की संभावना के मद्देनजर सरकार की ओर से कड़े सुरक्षा इंतजाम की ताकीद है। गुजरात के इस शहर में ईरानी कप मुकाबले में देश के तोप क्रिकेटर खेल रहे हैं। बुधवार को मैच के पहले दिन का खेल शुरू होने से पहले सुरक्षा में ढिलाई का आलम यह था कि कोई भी व्यक्ित स्टेडियम में आकर किसी भी अप्रिय घटना को अंजाम दे सकता था। सुबह आठ बजे , रिलायंस इंडस्ट्रीा स्टेडियम में डय़ूटी पर तैनात वडोदरा पुलिस के सिपाही और अफसर अभी पेटी ही कस रहे थे। बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन के निजी सुरक्षाकर्मी गेटों पर खड़े थे पर उन्हें नहीं पता था कि कौन सा गेट कहां पर है। मैं अपने लैपटॉप के साथ मुख्य गेट से अंदर आता हूं, एक निजी गॉर्ड एंट्री कार्ड की झलक भर देखता है और साथ में खड़े दो-तीन पुलिस वाले बैग चेक करने की जहमत नहीं उठाते। थोड़ा आगे जाने पर पैवेलियन की इमारत का वो गेट आता है जहां दोनों टीमों के ड्रे्िसंग रूम ग्राउंड फ्लोर पर आमने-सामने हैं। इस गेट के बाहर ब्लैक कैट कमांडो खड़े होकर खिलाड़ियों के आने का इंतजार कर रहे हैं। मैं इमारत के दरवाजे पर जाता हूं और वहां खड़ा गार्ड बिना कुछ पूछे या एंट्री कार्ड देखे चुपचाप लोहे की ग्रिल वाला गेट खोल देता है। चार कदम चलते ही ड्रेसिंग रूम के दरवाजे खुले नजर आते हैं। उसमें खिलाड़ियों के पैड और बल्ले पड़े हैं, जो वे कल ही यहां छोड़ गए थे। उस समय वहां यह देखने वाला कोई नहीं था कि ड्रेसिंग रूम के दरवाजे पर कोई अनजान आदमी क्या कर रहा है। इसके बाद मैं आराम से मैदान में प्रवेश कर गया और मस्त चाल से पिच के पास कुछ देर रूकने के बाद पूरा मैदान पार कर दूसर छोर पर बने मीडिया टावर में पहुंच गया। हर तरफ सीसीटीवी कैमर लगे हैं, दर्शक दीर्घाओं की वीडियोग्राफी भी हो रही है। शायद इस कारण शहर की पुलिस आराम की मुद्रा में थी या फिर ऐसा लग रह था कि पुलिस और निजी सुरक्षा गॉर्डो के लिए डय़ूटी खिलाड़ियों के स्टेडियम पहुंचने या मैच शुरू होने के बाद ही शुरू होनी थी। हुआ भी कुछ ऐसा ही। लगभग 8.45 बजे टीमें स्टेडियम पहुंची तो पुलिस वालों का ध्यान इस तरफ गया कि मुख्य गेट, जहां से टीमों को मैदान में जाना था उससे महा दस कदम की दूरी पर 30-40 टू व्हीलर खड़े थे। यही नहीं मीडिया टावर के पीछे एक टीवी चैनल की ओबी वैन भी अंदर पहुच गई थी। जबकि इसकी सख्त मनाही थी, कि आम दर्शक के लिए स्टेडियम परिसर में कोई पार्किंग नहीं होगी। इसकी घोषणा कल से ही स्थानीय पुलिस द्वारा मेजबान एसोसिएशन के जरिए जोर-शोर से की गई थी। लगभग साढ़े नौ बजे पुलिस की तंद्रा टूटी और ओबी वैन को हटाने का फरमान आया, इससे कुछ पहले दर्शकों से भी अपने वाहन हटाने का अनुरोध इस धमकी के साथ किया गया कि, पुलिस इन्हें उठवा देगी। हालांकि वीआईपी लोगों की कारं स्टेडियम परिसर में ही रहीं। पुलिस सतर्क हुई लेकिन मैच शुरू होने के बाद ही। इससे पहले कोई भी स्टेडियम के अंदर कुछ भी कर सकता था।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वडोदरा में सुरक्षा ऐसी, कोई कुछ भी कर जाए