DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘कॉरपोरट जगत आगे आए’

दो साल में फुटबॉल टीम ने शानदार प्रदर्शन के दम पर एक बार फिर भारतीय फुटबॉल में नई जान डाल दी है। दो साल से लगातार नेहरू कप फुटबॉल खिताब जीतने के बाद मंगलवार रात को गोवा के डेम्पो स्पोर्ट्स क्लब के सिंगापुर के होम युनाइटेड पर 4-3 की जीत के साथ एएफसी कप के सेमीफाइनल में पहुंचने की खबर ने फुटबॉलप्रेमियों को जश्न का एक और मौका दे दिया है। बेशक डेम्पो की इस उपलब्धि से ऑल इँडिया फुटबॉल फेडरशन-एआईएफएफ के अध्यक्ष प्रियरांन दासमुंशी भी बहुत खुश हैं, फिर भी वे मानते हैं कि देश में फुटबॉल का स्तर और उठाने के लिए उद्योग जगत को आगे आना होगा। शुक्रवार से शुरू हो रही ओएनजीसी आई-लीग फुटबॉल चैंपियनशिप के दूसर संस्करण के लिए भी ओएनजीसी के प्रायोजक होने की आधिकारिक घोषणा के लिए बुधवार को राजधानी में हुए संवाददाता सम्मेलन में फेडरशन के अध्यक्ष श्री दासमुंशी ने कहा कि आई-लीग से बेशक भारतीय फुटबॉल के स्तर में फर्क आया है। उन्होंने कहा, सभी क्लब अच्छा प्रदर्शन करने के लिए पूरा जोर लगा रहे हैं और उनके प्रदर्शन में निखार आ रहा है। डेम्पो के एएफसी कप क्वार्टर फाइनल में कल रात 4-3 की जीत इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है। दासमुंशी ने कहा, देश में व्यापक स्तर पर फुटबॉल को बढ़ावा देने के लिए अभी और कॉरपोरट घरानों के आगे आने की जरूरत है। फिलहाल हमार साथ दो-तीन अच्छे प्रायोजक हैं लेकिन इतने बड़े देश में पूरी तरह से खेल का स्तर उठाने के लिए बहुत धन की जरूरत है जो फेडरशन के पास नहीं है। हम ओएनजीसी का शुक्रिया अदा करते हैं कि उसने लगातार अपना समर्थन बनाए रखा है जिससे हमें ये लीग कराने में बहुत मदद मिल रही है। आई-लीग के पहले संस्करण में कमियों से क्या सबक लिया? इस सवाल पर उन्होंने कहा , कुछ कमियां रहीं, बेशक दूसर संस्करण में उन्हें दूर करने की कोशिश की जाएगी। मैचों के लिए वैकल्पिक मैदानों के बार में उन्होंने कहा, हमने कुछ मैदान विकल्प के तौर पर रखे हैं। इसमें गुड़गांव और दिल्ली का अम्बेडकर स्टेडियम भी शामिल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘कॉरपोरट जगत आगे आए’