DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जहीर ने पॉन्टिंग पर चलाया मनोवैज्ञानिक तीर

भारतीय पेस बैटरी के अगुआ जहीर खान ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत में अपने खराब बल्लेबाजी रिकॉर्ड की वजह से ही वह आगामी टेस्ट सीरीज के दौरान अपनी टीम को छुपारुस्तम मानने के लिए मजबूर हो गए हैं। जहीर ने एक निजी टीवी चैनल के साथ बातचीत में कहा कि सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को छुपारुस्तम मानने का पॉन्टिंग का बयान सुनकर उन्हें काफी आश्चर्य हुआ। उन्होंने कहा, ‘दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम के कप्तान का इस तरह का बयान यह दर्शाता है कि इस सीरीज में बढ़िया प्रदर्शन के लिए उन पर कितना भारी दबाव है।’ पॉन्टिंग ने गत दिनों कहा था कि भारत दौरे पर उनकी टीम महज एक छुपारुस्तम होगी। हालांकि ऑस्ट्रेलिया वर्ष 2004 के पिछले दौरे पर सीरीज जीतने में कामयाब रहा था और इस साल की शुरुआत में उसने अपनी जमीन पर भी भारत को 2-1 से मात दी थी। लेकिन इन दोनों सीरीज में भारत ने उसे जमकर टक्कर दी है और इससे पहले 2001 में उसे अपनी धरती पर 2-1 से हराया भी था। जहीर को लगता है कि पॉन्टिंग ने भारतीय जमीन पर अपने खराब रिकॉर्ड के दबाव में आकर यह बयान दिया है। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि पॉन्टिंग का भारत में बुरी तरह नाकाम रहना इस बयान की वजह हो सकती है। वैसे हमारे लिए उनकी नाकामी का सिलसिला जारी रहना ही अच्छा है।’ गौरतलब है कि मौजूदा दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शुमार पॉन्टिंग भारत में खेले गए टेस्ट मैचों में महज 12 का औसत ही निकाल पाए। खास तौर पर भारतीय स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह ने उनका खूब शिकार किया है और इस बार भी वह ऑस्ट्रेलियाई कप्तान को निशाना बनाने की नीयत जता चुके हैं। दरअसल पॉन्टिंग की अगुआई में एक अपेक्षाकृत अनुभवहीन टीम भारत दौरे पर आई है और दोनों टीमों के बीच पिछले कुछ वर्षों में उभरी कट्टर प्रतिद्वंद्विता को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया के लिए बॉर्डर-गावसकर ट्रॉफी पर अपना कब्जा बरकरार रख पाना काफी मुश्किल लग रहा है। इस टीम में पॉन्टिंग के अलावा मैथ्यू हेडन, माइकल क्लार्क और साइमन कैटिच ही ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने चार साल पहले भी भारत का दौरा किया था। इससे भी अधिक चिंता की बात यह है कि ऑस्ट्रेलिया के किसी भी गेंदबाज ने भारत की धरती पर अब तक कोई टेस्ट मैच नहीं खेला है। ऐसे में भारत के मजबूत बल्लेबाजी क्रम को समेटना मेहमान टीम के लिए काफी मुश्किल हो सकता है। बहरहाल खब्बू गेंदबाज जहीर ओपनर हेडन के विकेट को भारत के लिहाज से काफी अहम मानते हैं। उन्होंने कहा, ‘इस आक्रामक बल्लेबाज ने भारत के खिलाफ हमेशा अच्छा प्रदर्शन किया है और इस बार भी उनकी टीम को उनसे काफी उम्मीदें होंगी। लेकिन हमारे लिए यही अच्छा होगा कि हम उन्हें जल्द ही पैवेलियन लौटा सकें।’ हेडन ने भारत के खिलाफ सात टेस्ट मैचों में 61 के बेहतरीन औसत से 7रन बनाए हैं। इस तरह ऑस्ट्रेलिया की पिछली सफलताओं में उनके बल्ले का काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा है। मौजूदा सीरीज का पहला टेस्ट नौ अक्टूबर से बेंगलूरू में खेला जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जहीर ने पॉन्टिंग पर चलाया मनोवैज्ञानिक तीर