अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मल्होत्रा सीएम के उम्मीदवार

अंतत: भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिये पार्टी के वरिष्ठ नेता विजय कुमार मल्होत्रा को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया। ऐलान के तुरन्त बाद पार्टी की गुटबाजी भी सामने आ गई। घोषणा के वक्त पार्टी महासचिव और मुख्यमंत्री पद के दावेदार विजय गोयल की गैर मौजूदगी ने सबको चौंकाया। महासचिव अरुण जेतली ने बताया कि प्रभारी होने के नाते गोयल हरियाणा प्रदेश कार्यकारणी की बैठक में भाग लेने गये हैं। जबकि सचाई यह है कि घोषणा से पहले तक वह पार्टी मुख्यालय में मौजूद थे। पार्टी संसदीय बोर्ड की राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई मैराथन बैठक में विजय गोयल और प्रदेश अध्यक्ष डा. हर्षवर्धन के नामों पर भी विचार हुआ। पार्टी के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी के हस्तक्षेप के बाद मल्होत्रा के नाम को हरी झंडी दिखा दी गई। इस अहम घोषणा के बाद मलहोत्रा ने कहा कि पार्टी शीला सरकार के दस साल के भ्रष्ट और अक्षम शासन के बारे में जल्द चार्जशीट जारी करेगी। उन्होंने कहा कि बम धमाकों से सहमी दिल्ली में आतंकवाद भी प्रमुख मुद्दा होगा। उधर सूत्रों के अनुसार कुछ नेताओं ने बैठक में यह शंका रखी कि पितृ पक्ष में शुभ काम नहीं किए जाते। एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि 1में पितृपक्ष में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर कल्याण सिंह का नाम तय किया गया था। हाल सबके सामने है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मल्होत्रा सीएम के उम्मीदवार