अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो हजार पंचायतों में 100 टन क्षमता के गोदाम बनेंगे

भंडारण की समस्या से उबरने के लिए राज्य की दो हजार पंचायतों में 100 टन क्षमता वाले गोदाम बनेंगे। पैक्सों में बनने वाले इन गोदामों से ग्रामीण स्तर पर अनाज जमा करने की समस्या से निजात मिल जायेगी। इस वर्ष किसानों से खरीदे गये धान और गेहूं के भंडारण में भारी परशानी का सामना करना पड़ा। ग्रामीण स्तर पर भंडारण क्षमता बढ़ाने के लिए दो हजार पैक्सों में 100 टन क्षमता के गोदाम बनाए जा रहे हैं। वहीं व्यापार मंडलों में 200-250 टन क्षमता के गोदाम बन रहे हैं। अगस्त तक पैक्सों और व्यापार मंडलों में 838 गोदामों के लक्ष्य की तुलना में 678 गोदामों का निर्माण हो गया है। सहकारिता विभाग द्वारा राज्य भंडारण निगम के सहयोग से समस्तीपुर, फतुहा और छपरा में पांच हजार टन क्षमता के दो-दो गोदाम जबकि मोतिहारी और मोहनिया में एक-एक गोदाम बनाए जा रहे हैं। विभाग की राज्यस्तरीय स्वीकृति समिति ने आरा और सासाराम में भी पांच हजार टन क्षमता के गोदाम बनाने को मंजूरी दे दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो हजार पंचायतों में 100 टन क्षमता के गोदाम बनेंगे