अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिव साईं कृपा मंदिर के बर्खास्त अध्यक्ष के खिलाफ प्राथमिकी होगी

बिहार धार्मिक न्यास पर्षद के प्रशासक आचार्य किशोर कुणाल ने कहा कि शिव साईं कृपा मंदिर के बर्खास्त अध्यक्ष, सचिव व कोषाध्यक्ष के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर जेल का रास्ता दिखाया जाएगा। 10-में महावीर मंदिर में फर्जी हस्ताक्षर कर रुपए गबन करने वाले कर्मचारी को जेल भेजकर दो साल की सजा दिलायी गई थी। शिव साईं कृपा मंदिर के बर्खास्त न्यासधारियों की भी यही दुर्गति होगी। आचार्य कुणाल ने कहा कि साईं मंदिर की राशि हड़पकर जालसाज लोग राजनीति कर रहे हैं। साईं मंदिर न्यास से संचालित चिकित्सा केन्द्र के एक पैसे का हिसाब नहीं दिया गया और इन्हीं लोगों ने लाखों रुपए का गबन कर लिया। बर्खास्त अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद ने 27 बार फर्जी ढंग से बैंक खाते से हजार रुपए का गबन किया तथा ऑडिट टीम को लाखों का फर्जी वाउचर दिखाया। श्री प्रसाद जिला निबंधन कार्यालय से फर्जी ट्रस्ट डीड का अवैध निबंधन कराकर आजीवन अध्यक्ष बन बैठे जबकि अन्य सदस्यों का कार्यकाल पांच वर्षो के लिए तय किया था। उन्होंने ट्रस्ट की स्थापना में पचास प ैसे भी दान नहीं दिया। श्री प्रसाद जब पैरवी और प्रलोभन देकर भी नहीं बच पाए तो अब अपने समर्थकों के सहार धरना व प्रदर्शन कर रहे हैं फिर भी कानून अपना काम करगा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिव साईं कृपा मंदिर के बर्खास्त अध्यक्ष के खिलाफ प्राथमिकी होगी