अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिरी वक्त में एटमी करार पर सीनेट में अड़ंगा

अमेरिका भारत के बीच असैनिक परमाणु सहयोग के एतिहासिक समझौते को अंतिम समय में नई परशानी से दो चार होना पड़ रहा है। पीएम मनमोहन सिंह की राष्ट्रपति जार्ज बुश से वाशिंगटन में मुलाकात के बात इस बात की संभावना प्रबल हो गयी थी कि परमाणु करार को अमेरिकी कांग्रेस मतदान के जरिये अपनी मंजूरी दे देगी। लेकिन सीनेट में आखिरी मौके पर एक सदस्य ने मतदान के मसले पर अडं़गा लगा दिया है। हालांकि कांग्रेस के दूसर सदन प्रतिनिधिसभा में एसी कोई रुकावट पैदा नहीं हुई है। राजनयिकों को फिर भी भरोसा है कि कांग्रेस अपने इस आखिरी सत्र में परमाणु समझौते को अपनी मंजूरी दे देगी। लेकिन कांग्रेस नाजुक दौर से गुजर रही है। वह इस समय अमेरिका में शती के सबसे बड़े वित्तीय संकट से अमेरिका को बचाने के लिए 700 अरब डॉलर के संकट मोचक पैकेा पर बहस के दौर से गुजर रही है। छब्बीस सितंबर कांग्रेस का आखिरी दिन है।ड्ढr इस सत्र की अवधि बढ़ने की संभावनाएं इसलिए कम हैं क्योंकि कांग्रेस सदस्य चुनाव की तैयारी में जुटने के लिए उतावले हैं। मेकेन और ओबामा की पहली बहस भी तय हो चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आखिरी वक्त में एटमी करार पर सीनेट में अड़ंगा