अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली में फिर धमाका,एक मरा

महा दो हफ्तों के अंतराल में ही दिल्ली फिर दहल उठी। दक्षिण दिल्ली के महरौली इलाके में अँधेरिया मोड़ के समीप फूलमंडी में शनिवार को दोपहर हुए जोरदार विस्फोट में एक 13 साल के बच्चे की मौत हो गई तथा 18 अन्य घायल हो गए। पखवार भर पहले शनिवार के ही दिन दिल्ली में तीन स्थानों पर हुए सिलसिलेवार धमाकों में 24 लेागों की मौत हो गई थी और 100 से यादा लोग घायल हुए थे। दिल्ली पुलिस ने धमाके में मार गए बच्चे के परिवारीानों को पाँच लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। धमाका ऐसे समय हुआ हैोब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अमेरिका यात्रा पर हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ राा गिलानी ने सबसे पहले इस धमाके की निंदा की।ड्ढr केन्द्रीय गृहमंत्री शिवराज पाटील ने गृह सचिव मधुकर गुप्ता व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में स्थिति की समीक्षा की। हादसे के तुरंत बाद दिल्ली में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। अभी तक किसी संगठन ने विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी, अग्निशमन दल एवं बम निरोधक दस्तों ने मौके पर पहुँचकर जाँच शुरू कर दी है। एनएसाी के बम निरोधक दस्ते को बम के कुछ टुकड़े मौके से मिले हैं। बम में अमोनियम नाइटट्र और एक-डेढ़ इंच वाले धातु के टुकड़ों का इस्तेमाल किया गया।ड्ढr दिल्ली के पुलिस उपायुक्त एचएस धालीवाल ने बताया कि दोपहर करीब 2.15 बो एक काली मोटरसाइकिल पर काली ड्रेस और हेलमेट पहने दो लोग आए और एक काली पॉलिथीन छोड़कर चले गए। इस पॉलिथीन में कम तीव्रता वाला टिफिन बम था। वहाँ से गुार रहे एक 13 साल के बच्चे ने पॉलिथीन को ौसे ही उठाया, धमाका हो गया। धमाके में इस बच्चे की मौत हो गई। 18 अन्य घायल हो गए। गृह सचिव मधुकर गुप्ता ने बताया कि घायलों को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया है जहाँ छह लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। इनमें से पाँच को सिर पर गंभीर चोटें आई हैं। अस्पताल में परिवारीजनों की भीड़ लगी हुई है।ड्ढr ािसोगह धमाका हुआ वह ऐतिहासिक कुतुबमीनार के पास स्थित है। बम इलेक्ट्रॉनिक सामानों की एक दुकान के सामने छोड़ा गया था। सूत्रों के अनुसार शनिवार और त्योहार का मौका होने के कारण सँकरी गली में स्थित इस मार्केट में काफी भीड़ थी, इसीलिए काफी लोग घायल हो गए। धमाके में आसपास की दुकानों के काँच के शीशे व खिड़कियाँ टूट गईं और चारों तरफ खून छितरा गया। धमाके की सूचना तुरंत पुलिस को दी गई लेकिन वह घटना के करीब घंटे भर बाद पहुँची। मदद के लिए सबसे पहले स्थानीय दुकानदार आगे आएोिन्होंने घायलों को अस्पताल पहुँचाया। पुलिस के देरी से पहुँचने से लोगों में काफी गुस्सा था। बतायाोाता है कि पड़ोस की फरीदाबाद पुलिस ने इस धमाके की आशंका के संबंध में दिल्ली पुलिस को शुक्रवार को ही आगाह कर दिया था लेकिन उसने कोई कदम नहीं उठाए।ड्ढr इस बीच, भाापा ने दक्षिण दिल्ली में शनिवार को हुए बम धमाके के लिए केंद्र की संप्रग सरकार की वोट बैंक की राजनीति को जिम्मेदार ठहराया है। पार्टी ने आरोप लगाया है कि सरकार आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को सिर्फ बहस तक सीमित रखना चाहती है। भाजपा प्रवक्ता राजीव प्रताप रूड़ी ने यहाँ प्रेस ब्रीफिंग में आरोप लगाया कि जिस प्रकार से आज फिर धमाके हुए हैं उससे साफ हो जाता है कि आतंकवाद का तांडव राजधानी को निरंतर दहला रहा है। लेकिन ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह आतंकवाद से लड़ना नहीं चाहते। ड्ढr और अपने को आतंकवाद के मुद्दे पर मात्र बहस तक सीमित रखना चाहते हैं।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दिल्ली में फिर धमाका,एक मरा