DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मशहूर पाश्र्वगायक महेन्द्र कपूर का निधन

ई पीढ़ियों को दशकों तक अपने सुर से मंत्रमुग्ध करनेवाले विख्यात पाश्र्वगायक महेन्द्र कपूर का शनिवार को दिल का दौरा पड़ने मुंबई में निधन हो गया। कपूर 74 वर्ष के थे और उनके पीछे उनके परिवार में पत्नी, तीन पुत्रियां और एक पुत्र हैं। पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि उन्हें किडनी की समस्या थी और वह डायलसिस पर थे। लेकिन बाद में वह ठीक हो गए थे। उनका निधन शाम के 7.30 बजे सोते समय हुआ। महाराष्ट्र सरकार ने हाल में ही पाश्र्वगायिकी के क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए उन्हें लता मंगेशकर पुरस्कार से नवाजा था। स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर, अभिनेता मनोज कुमार समेत बॉलीवुड की अनेक हस्तियों और अन्य लोगों ने महेन्द्र कपूर के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। कपूर का जन्म अमृतसर मेंोनवरी 1ो हुआ था लेकिन जल्द ही वह मुंबई आ गए। कपूर मोहम्मद रफी से काफी प्रभावित थे और शुरुआती दिनों में ही उन्होंने अखिल भारतीय गायन प्रतियोगिता जीती थी। कपूर को अन्य गीतों के अलावा बी आर चोपड़ा की फिल्म धूल के फूल, गुमराह, वक्त, हमराज, धुंद जसे सदाबहार फिल्मों में गाए गीतों के लिए हमेशा याद किया जाएगा। कपूर ने मनोज कुमार की प्रसिद्ध फिल्म उपकार और पूरब और पश्चिम में भी गीत गाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मशहूर पाश्र्वगायक महेन्द्र कपूर का निधन