DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संक्षिप्त खबरें

गायक महेंद्र कपूर नहीं रहे मुंबई। पूरब-पश्चिम, फकीरा, क्रांति जसी फिल्मों में मनोज कुमार को आवाज देने वाले वयोवृद्ध गायक महेंद्र कपूर का शनिवार की शाम मुंबई में निधन हो गया। वे 74 वर्ष के थे। महेन्द्र कपूर गुमराह और हमराज जसी ख्यात फिल्मों में गाने के लिए आजीवन याद रखे जाएंगे। उन्हें अपने जमाने की चर्चित फिल्म ‘उपकार’ में ‘मेर देश की धरती सोना उगले उगले हीर-मोती..’ गाने के लिए 1में राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला। महेन्द्र कपूर ने पहली बार 1में व्ही शांताराम की चर्चित फिल्म ‘नवरंग’ में गाया था। ‘चलो एक बार फिर से अजनबी बन..’ और ‘नीले गगन की छांव में..’ उनके चर्चित गीत हैं। बच्चों ने चंदा कर बंधक प्राचार्य को छुड़ायाड्ढr गढ़वा। जवाहर नवोदय विद्यालय में बीती रात डकैतों ने हमला बोल कर प्राचार्य, शिक्षक, उनकी पत्नी, बच्ची, क्लर्क और उसकी पत्नी को पिस्तौल की नोंक पर बंधक बना लिया। डकैतों ने शिक्षक के आवास से 12 हाार नकद, गहने और अन्य कीमती सामान लूट लिये। आठ की संख्या में आये डकैतों ने प्रचार्य से 15 लाख की फिरौती की मांगी। उसके बाद ने बच्चों से चंदा कर पैसे देने की धमकी दी। बच्चों ने लगभग छह हाार रुपया चंदा कर डकैतों को सौंप दिया। इसके बाद ही डकैतों ने बंधक प्राचार्य समेत सभी शिक्षकों को छोड़ा। बताते हैं कि मुंह बांधे डकैत ऑफिस के पीछे की चहारदीवारी फांद स्कूल में घुसे। चौकीदार उन्हें टार्च जला कर देख लिया, तो उसकी पिटाई कर दी गयी। फिर अपराधियों ने हॉस्टल में बच्चों के साथ मारपीट की। पांच से ज्यादा बच्चे घायल हो गये। सूचना मिलने पर एसपी साकेत सिंह पुलिस बल के साथ पहुंचे और मामले की छानबीन की।इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है।ड्ढr गांवों में शिक्षकों से पैसे वसूलता है जेएलटीड्ढr रांची (हिब्यू)। लोहरदगा, गुमला और रांची में शिक्षकों से जेएलटी पैसा वसूलते हैं। यह वसूली वैसे शिक्षकों से की जाती है, जो स्कूल नहीं आते। हालांकि रंगदारी देनेवाले शिक्षक इससे इनकार करते हैं। जेएलटी के कमांडर राकेश टाइगर का कहना है कि वैसे शिक्षकों से पैसा लिया जाता है, जो गायब रहते हैं, निजी धंधा करते हैं। वैसे शिक्षकों को पहले चेतावनी दी गयी थी कि वे बच्चों को पढ़ायें। धमकी के बाद आलाधिकारियों से मिल कर उन्हें अलग से पैसा देने लगे,तो जेएलटी भी रंगदारी की मांग करने लगी। लोहरदगा के गांवों में जो विद्यालय हैं, उसमें यही स्थिति है। गुमला और रांची में भी यही स्थिति है। रांची के ओरमांझी थाना क्षेत्र के दूरदराज गांव में स्थित विद्यालयों में जो शिक्षक पदस्थापित हैं, वे जाते ही नहीं हैं। इन शिक्षकों से भी जेएलटी रंगदारी की वसूली शुरू कर दी है। पुलिस को भी इसकी जानकारी दे दी गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संक्षिप्त खबरें