DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दशहरा बाद भाजपा की कोर कमेटी बैठेगी

लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर होमवर्क के लिए दशहरा के बाद भाजपा की कोर कमेटी बैठेगी। उसी दिन स्पेशल ग्रुप और प्रदेश पदाधिकारियों की भी बैठक होगी। 12 अक्टूबर को तीन दौर में होने वाली इन बैठकों में भाग लेने के लिए बिहार प्रभारी कलराज मिश्र पटना आ रहे हैं। इसमें संगठनात्मक ढांचे को चुस्त-दुरुस्त बनाना और जद यू के साथ सीटों का तालमेल चर्चा के केन्द्र में रहेगा। पार्टी सूत्रों के मुताबिक सबसे बड़ी कशमकश सीट बचाने की है। नए परिसीमन में सिर्फ कुछ सीटों का स्वरूप बदला है।ड्ढr ड्ढr राज्य में लोकसभा सीटों की संख्या नहीं बदली है। लिहाजा नेतृत्व की चिन्ता है कि 40 में से कम से कम 16 सीट तो उसे इस बार भी मिले ही। परिसीमन की कतर-ब्योंत के मद्देनजर पार्टी एक-दो सीटों पर फेरबदल की भी गुंजाइश टटोल रही है। इसके बाद बोनस में एक-दो और सीट मिल जाए तो कहना ही क्या है। विवाद की स्थिति में आलाकमान द्वारा जद यू को ही वाकओवर देने के पिछले अनुभवों को देखते हुए पार्टी नेतृत्व जद यू के साथ सीटों के तालमेल का मसला बातचीत से ही हल करने को इच्छुक है। उसकी मंशा है कि इस मसले को आपस में ही निपटाकर आलाकमान से सहमति ले ली जाए। कोर कमेटी की बैठक में चुनाव प्रबंधन समिति के ढांचे पर भी विचार संभव है। इसके अध्यक्ष के लिए दो-तीन नामों पर विचार चल रहा है। इसके साथ ही 18-1अक्टूबर को छपरा में होने वाली प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के मुद्दों पर भी विचार होना है। प्रदेश अध्यक्ष राधामोहन सिंह के मुताबिक उस दिन की बैठक में बाकी बची बूथ कमेटियों के गठन, लोकसभा सम्मेलनों, अभ्यास वर्ग और आगे की बाढ़राहत की तैयारियों पर चर्चा होनी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दशहरा बाद भाजपा की कोर कमेटी बैठेगी