DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ पीड़ित छात्रों के लिए खुला खजाना

ोसी क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित इलाकों में नौ लाख से अधिक छात्रों को कॉपी, किताब और कपड़े के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से नकद राशि दी जायेगी। पहली से आठवीं कक्षा तक के प्रत्येक छात्र को 800 रुपये, नवीं से प्लस टू तक के छात्र को 1000 रुपये और उससे ऊपर पीजी तक के हरक छात्र को 1200 रुपये मिलेंगे। बाढ़पीड़ित छात्रों को नकद सहायता देने का फैसला सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई मुख्यमंत्री राहत कोष न्यास पर्षद की बैठक में लिया गया। इसका लाभ मान्यताप्राप्त संस्कृत विद्यालय और मदरसा के छात्रों को भी मिलेगा।ड्ढr ड्ढr राज्य सरकार द्वारा पहली बार बाढ़ प्रभावित इलाकों में छात्रों को नकद राशि दी जायेगी। इसके दायर में लगभग नौ लाख छात्र आयेंगे। इसमें पहली से प्लस टू तक के छात्रों की संख्या छह लाख से अधिक है। छात्रों को राशि देने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से 80 करोड़ रुपये दिये गये हैं। भुगतान मानव संसाधन विकास विभाग के माध्यम से होगा। बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए विभिन्न राज्य सरकारों, सरकारी और निजी संस्थाओं ने मुख्यमंत्री राहत कोष में अबतक 100 करोड़ रुपये से भी अधिक राशि दी है। बैठक में मुख्य सचिव आर.जे.एम.पिल्लै, वित्त, आपदा प्रबंधन, मंत्रिमंडल सचिवालय, समाज कल्याण और स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिवों के अलावा मुख्यमंत्री सचिवालय, मानव संसाधन विकास विभाग और सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के अधिकारी भी शामिल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बाढ़ पीड़ित छात्रों के लिए खुला खजाना