अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संघ परिवार की लगाई आग में जला कंधमाल

ंधमाल में हाल-फिलहाल जो सांप्रदायिक हिंसा की घटनाएं हो रही हैं, उसकी आग पिछले 40 वर्षो से, तब से सुलग रही थी, जब संघ परिवार ने यहां अपने पांव फैलाने शुरू कर दिए थे। विश्व हिन्दू परिषद के स्वामी लक्ष्मणानंद और उनके साथ तीन अन्य सहयोगियों की हत्या को तो यहां बहाना भर बनाया गया। यह बात इससे भी साबित होती है कि लक्ष्मणानंद की हत्या की जिम्मेदारी माओवादियों द्वारा लिए जाने के बावजूद ईसाइयों को निशाना बनाया जा रहा है। यह निष्कर्ष गत 22 और 23 सितम्बर को गांधी शांति प्रतिष्ठान के सचिव सुरन्द्र कुमार के साथ कंधमाल गई तथ्यान्वेषी टीम ने प्रभावित क्षेत्रों, राहत शिविरों और लोगों से बातचीत से निकाला है। टीम ने पाया कि विवाद केवल कांधा-पाना का विवाद नहीं है, बल्कि यह हिन्दू-ईसाई संघर्ष है। यहां इन दोनों समुदायों से ईसाई बने लोग भी शिकार हुए हैं। हालांकि यहां ईसाइयों पर हिन्दू कांधाओं ने हमले किए लेकिन उन्हें उत्तेजक भाषणों के द्वारा हमले के लिए तैयार करने के साथ पैसा, घर फूंकने के लिए पेट्रोल-डीाल, किरोसिन यहां के व्यापारी समुदाय और बाहरी लोगों ने मुहैया कराईं। मौके का फायदा उठाकर संघ परिवार ने हिन्दू आदिवासियों और ईसाई बन गए दलितों के बीच भूमि विवाद को हवा देकर सामाजिक दरार चौड़ा किया। तथ्यान्वेषण दल इस निष्कर्ष पर पहुंचा कि हिंसा के लिए कारणों में धर्मातरण और घर्मवापसी के साथ ही आदिवासियों में अस्मिता संकट के भय ने भी प्रमुख भूमिका अदा की है। ऐसे माहौल में हिंसा रोकने में राजनीतिक अनिच्छा को देखते हुए प्रशासन भी हिंसाग्रस्त इलाकों में पहुंचने से बच रहा है। राहत शिविरों का संचालन जसे-तैसे होता रहा लेकिन घरों से भाग आए पीड़ितों को उनकी घर वापसी के प्रयास नहीं किए गए। टीम के अनुसार, केंद्र सरकार भी राज्य को समय पर उचित निर्देश देने में असफल रहा। टीम ने सुझाव दिया है कि तत्काल सिविल सोसाइटी और दलों की बैठक बुलाकर शांति प्रक्रिया शुरू की जाए। दोषियों को पकड़ा जाए, राहत शिविरों में पर्याप्त सामग्री भेजी जाए और भूमि व जातीय विवाद को निपटाने के लिए सरकार राजनीतिक इच्छाशक्ित दिखाए। टीम के दो दिवसीय दौर में लोहिया अकादमी के सचिव शरद चन्द मोहंती, देहा महापात्र, प्रदीप दत्त, बाघंबर पटनायक और निशिकांत महापात्र शामिल थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संघ परिवार की लगाई आग में जला कंधमाल