DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘रैंकिंग गिरने की चिंता नहीं’

देश के टॉप बैडमिंटन खिलाड़ी और बीजिंग ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले अनूप श्रीधर ओलंपिक के बाद से कोर्ट पर नजर नहीं आए हैं। उन्होंने उसके बाद कोई टूर्नामेंट नहीं खेला। इससे उनकी रैंकिंग और नीचे आने का खतरा पैदा हो गया है, जो कभी अपनी बेस्ट रैंकिंग-24 पर थे। लेकिन उन्हें इसकी ज्यादा चिंता नहीं। अभी उनकी असली चिंता है एड़ी की। उसी की चोट की वजह से वे टूर्नामेंटों में हिस्सा नहीं ले पा रहे हैं। चोट की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वे प्रैक्िटस तक नहीं कर पा रहे हैं। अपनी तकलीफ के कारण ही अनूप जर्मनी के सारब्रुकेन में मंगलवार से शुरू हुए बिटबर्ग ओपन में भी हिस्सा नहीं ले रहे जिसमें उन्हें पांचवीं वरीयता दी गई थी। बेंगलूरू से उन्होंने बात करते हुए कहा, फिलहाल मेरा ध्यान अपनी तकलीफ पर है। अगर इस पर अभी ध्यान नहीं दिया तो हो सकता है कि ये और ज्यादा गंभीर हो जाए और इसे ठीक होने में एक साल भी लग जाए। मेर डॉक्टर ने कहा है कि पहले इसे ठीक करना है, उसके बाद ही किसी टूर्नामेंट के बार में सोचना है। अपने करियर की बेस्ट रैंकिंग पर 30 मार्च, 2008 को पहुंचे अनूप को दरअसल बीजिंग ओलंपिक में भी खेलने में बहुत आसानी नहीं हुई थी। उसके बाद तो उन्होंने एशियन सर्किट में भी हिस्सा नहीं लिया। उन्होंने कहा कि चोट के कारण वे पूर यूरोपीयन सर्किट में भी नहीं खेलेंगे। ओलंपिक से पहले भी वे इसी चोट के चलते हैदराबाद में हुए इंडियन ओपन में नहीं खेले थे। एसे में उन्हें सबसे ज्यादा चुनौती राष्ट्रीय चैंपियन चेतन आनंद से मिल रही है जो उन्हें पछाड़ फिलहाल 33वें स्थान पर जा पहुंचे हैं। अब तो वे चेक ओपन टूर्नामेंट भी जीत चुके हैं। एसे में जहां दो दिन बाद गुरुवार को जारी होने वाली रैंकिंग में उनका स्थान काफी ऊपर हो सकता है वहीं अभी 36वें स्थान पर मौजूद अनूप को और झटका लग सकता है। इस पर अनूप ने कहा, मुझे चिंता नहीं है। बेशक चेतन ऊपर जा सकते हैं लेकिन मैं जब भी ठीक हो गया और कोर्ट पर वापस आ गया, उसके बाद सब कवर कर लूंगा। बस, ये देखना है कोर्ट पर कब उतरता हूं। अभी भी मुझे चलने-फिरने में कोई दिक्कत नहीं, खेलते वक्त ही परशानी होती है। मुझे उम्मीद है कि दो सप्ताह में फिर से प्रैक्िटस करने लगूंगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘रैंकिंग गिरने की चिंता नहीं’