DA Image
24 जनवरी, 2020|5:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवंबर तक रह सकती है रुपए की कीमत स्थिर

अमेरिकी अर्थव्यवस्था के लगातार हिचकोलें खाने के बावजूद घरलू मुद्रा रुपया फिलहाल कम से कम नवंबर माह तक थोड़े उतार चढ़ाव के बावजूद मौजूदा स्तर पर ही बना रह सकता है। आज दिन भर के कारोबार के दौरान यह डॉलर के मुकाबले 46.62 पर बंद हुआ। निर्यातकों के मुताबिक दिसंबर के बाद ही डॉलर की मजबूती के बाद स्थिति में बदलाव संभावित है। बीते मई माह के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया लगभग 40 से 41 के आसपास ही था। इसके बाद स्थितियों ने करवट ली और लगातार रुपये की मजबूती से परशान और इसके चलते केंद्र सरकार से कई प्रोत्साहन पैकेा बटोर चुके निर्यातको को तब राहत मिली जब रुपये का मूल्य कम होना शुरू हो गया। इस समय यह 46 से 47 के बीच चढ़-उतर रहा है। फिलहाल अमेरिकी अर्थव्यवस्था संकट में है और नतीजतन डॉलर कमजोर है। इसका असर दुनिया भर में पड़ रहा है। भारत में डॉलर की आपूर्ति प्रभावित होने की आशंका और विदेशी संस्थागत निवेशकों की बिकवाली का दबाव है। लिहाजा, यह 46-47 के स्तर पर बना हुआ है। सूत्रों के मुताबिक इससे आगे जाने पर रिार्व बैंक का हस्तक्षेप स्वाभाविक ही होगा क्योंकि ऐसे में आयात बिल नियंत्रण से बाहर हो जाएगा और सरकार के खजाने पर प्रतिकूल असर पड़ना तय है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: नवंबर तक रह सकती है रुपए की कीमत स्थिर