class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संक्षिप्त खबर

तार गिरा, तीन झुलसे गिरिडीह। पीरटांड़ थाना के कठवारा से करीब चार किलोमीटर दूर सियारंगी गांव में बुधवार की सुबह तार टूटकर गिर जाने से गांव के दो बच्चों समेत तीन लोग घायल हो गए। इससे गांववालों में डीवीसी विभाग के खिलाफ रोष है। लोगों ने डीवीसी प्रबंधन से मुआवजे की मांग की है। सुबह जब लोग खेत की ओर गये तो वहां पर अर्थिग तार टूटकर गिरा हुआ था। कुछ लोग खेत में काम कर रहे थे। हेल्थ वर्कर्स की नियुक्ित को लेकर विवादड्ढr चक्रधरपुर। झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री द्वारा मंगलवार को रांची के आरसीएच नामकुम में बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को सौंपे गये नियुक्ित पत्र के मामले में विवाद उत्पन्न हो गया है। कहते हैं कि पहली सूची में जिन उम्मीदवारों को सफल बताया गया था, दूसरी सूची से उनके नाम ही गायब हो गये। इनलोगों ने सूची में अनियमितता बरतने का आरोप लगाया है। पहली सूची के चयनित सदस्य जवाहर लाल महतो, मनीष कुमार महतो, संतोष कुमार, मकड़ध्वज प्रधान, धनंजय कुमार, सतीश कुमार व अजीत कुमार ने मुख्यमंत्री शिबू सोरन को इस बाबत एक पत्र भी सौंपा है।ड्ढr जर्मनी बिजनेस स्कूल से करारड्ढr जमशेदपुर। जेवियर लेबर रिलेशन्स इन्स्टीच्यूट (एक्सएलआरआइ) ने सोमवार को जर्मन बिजनेस स्कूल मून्सटर स्कूल ऑफ बिजनेस एंड इकोनोमिक्स के साथ करार किया। इस अवसर पर मून्सटर यूनिवर्सिटी के मार्केटिंग प्रोफेसर डॉ. मैनफ्रेड क्रॉफ्ट और एक्सएलआरआइ निदेशक फादर इ.अब्राहम एवं प्रोफेसर जीतू सिंह उपस्थित थे। एक्सएलआरआइ निदेशक फादर इ.अब्राहम ने बताया कि जर्मन बिजनेस स्कूल के साथ करार से संस्थान के कोर्स को ग्लोबल एक्सपोजर मिलेगा और इसका इंटरनेशनल वैल्यू बढ़ेगा। उन्होंने बताया कि जर्मन बिजनेस स्कूल के अलावा संस्थान अमेरिकी यूनिवर्सिटी केय वेस्टन और डार्डेन यूनिवर्सिटी के साथ भी शीघ्र ही करार करने जा रहा है।ड्ढr मिसाइल और कॉम्बैट विमान बनेंगेड्ढr देवघर। मिसाइल और कॉम्बैट विमान आने वाले दिनों में देवघर में बनने लगेंगे । रक्षा मंत्रालय भारत सरकार के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन(डीआरडीओ)ने देवघर के मोहनपुर प्रखंड के त्रिकूट पर्वत के समीप प्रयोगशाला स्थापित करगा। इसके लिए डीआरडीओ के अधिकारी ने स्थल का मुआयना भी कर लिया है। यह जानकारी सूत्रों ने दी प्रयोगशाला के स्थापना के लिए जिला प्रशासन ने भी हामी भर दी है तथा जमीन उपलब्ध कराने की दिशा में प्रक्रिया प्रारम्भ हो गई है।ड्ढr सूत्रों के अनुसार दिल्ली से आये कनर्ल एम पी सिंह ने जिले के अधिकारियों के साथ स्थल का मुआयना कर स्थल की स्वीकृति भी प्रदान कर दी है। बतातें चलें कि डीआरडीओ का गठन वर्ष 1उस समय पहले से कार्य कर रहे भारतीय सेना के तकनीकी विकास प्रतिष्ठान और तकनीकी विकास एवं उत्पादन निदेशालय के साथ रक्षा विज्ञान संगठन के गठबंधन से हुआ था। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संक्षिप्त खबर