DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिटीन गाड़ी से रांची से हचाारीबाग गये थे बापू

वतंत्रता आंदोलन के दरम्यान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पूर झारखंड का लगातार दौरा कर लोगों के बीच आजादी का अलख जगाते रहे। पूर देश में राष्ट्रीयता की लहर पूर वेग से चल पड़ी थी तथा बापू इसके प्रेरणा स्त्रोत थे। 18 सितंबर 1ो पहली बार बापू का आगमन हाारीबाग में हुआ था। रांची से उन्हें हाारीबाग लाने के लिए तत्कालीन कांग्रेस नेता रामनारायण सिह, सरस्वती देवी और त्रिवेणी प्रसाद फिटीन गाड़ी लेकर गये थे। दूसरी मर्तबा बापू 1में चतरा आये थे तथा बिहार के भूकंप पीड़ितों के लिए धन इकट्ठा अभियान चलाया था। पुन: 18 मार्च 10 के रामगढ़ अधिवेशन में बापू का आगमन हुआ, जहां कई प्रदर्शनियों का उद्घाटन किया तथा भारत छोड़ो आंदोलन का ताना-बाना बुना गया था। 27 मार्च 1में चक्रधरपुर से रांची होते हुए गोमियां जाने के क्रम में बापू पुन: यहां पधार तथा कुम्हारटोली में स्थापित हरिान स्कूल का निरीक्षण किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फिटीन गाड़ी से रांची से हचाारीबाग गये थे बापू