DA Image
25 फरवरी, 2020|11:07|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

बुराई से तौबा। अपने ऊपर पर काबू। नियमबद्ध जिंदगी। वंचितों की मदद। पड़ोसियों का हक। इंसानियत से लबरा रूहानी ताकत। .. यही रमजान है। और इसे पूरा करने की खुशी ईद। तब ही तो नजीर अकबराबादी ने कहा था, ऐसी न शब्बरात न बकरीद की खुशी। जसी हर दिल में है इस ईद की खुशी।। लेकिन क्या वाकई इस बार ऐसा है। बम धमाके, खूंराी, तनाव, नफरत, खौफ . और इन सबके बीच खुशी! . आज बापू की सालगिरह भी है। दिल्ली से लेकर उड़ीसा तक घृणा से भर हिंसा के माहौल में आज बापू की शिद्दत से याद आ रही है। याद आ रही है, घृणा से नफरत करने की सीख और अहिंसा का रास्ता। इस ईद की दुआ, इसी गांधीगीरी के नाम रहे तो गले के साथ दिल भी मिलेंगे और खुशियां भरपूर।दादा को मिली लाइफलाइन इसे किस्मत कहें या फिर देश भर में उठी आवाज। पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली को आखिर टेस्ट टीम में बरकरार रखा गया। गांगुली का कैरियर समाप्ति की ओर है। लेकिन के श्रीकांत के नेतृत्व में नई चयन समिति ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दो टेस्टों के लिए घोषित टीम में गांगुली को शामिल कर उन्हें नई ‘लाइफलाइन’ दे दी। चयनकर्ताओं ने गांगुली को टीम में शामिल कर उन्हें अपने कॅरियर में नई जान फूंकने का आखिरी मौका दे दिया है। इसके अलावा एस.बद्रीनाथ और अमित मिश्रा को पहली बार टेस्ट टीम में मौका दिया गया।