DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्यपाल के समक्ष बीएन कालेज के प्राचार्य ने कमियों का रोना रोया

बीएन कॉलेज में जव विविधता पर आयोजित सेमिनार के उद्घाटन मौके पर प्राचार्य ने जमकर कमियों का रोना रोया। जव विविधता और इसके प्रसार व संरक्षण विषय पर आयोजित सेमिनार का उद्घाटन करते हुए कुलाधिपति सह राज्यपाल आरएल भाटिया ने कहा कि भूमि, जल और पेड़-पौधे के संबंध एक-दूसर से जुड़े हुए हैं। इनके बचाव के लिए जनमानस में जागरूकता लाना जरूरी है। शुरू में प्राचार्य ने कॉलेज की समस्याओं से तो कुलाधिपति को अवगत कराया ही साथ ही इसके लिए किसी प्रकार का सहयोग विवि प्रशासन द्वारा न किए जाने की भी बात कही। आगत अतिथियों का स्वागत करते हुए प्राचार्य डा. रमेश प्रसाद ने कहा कि विवि प्रशासन द्वारा बीएन कॉलेज की लगातार उपेक्षा की। उन्होंने कहा कि कॉलेज प्रशासन द्वारा कुलपति के आदेश का अक्षरश: पालन किया जाता है। कॉलेज विवि से भी पुराना है जबकि सुविधाएं नदारद हैं।ड्ढr ड्ढr विवि प्रशासन यहां पर एडहॉक पर भी शिक्षकों को रखने की अनुमति नहीं प्रदान कर रहा है। मुख्य वक्ता डा. रवि जेई ने विषय पर गहराई से प्रकाश डाला। इसमें मुख्य रूप से प्रो. एसआई अहसन, वनस्पति विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. सतीश कुमार सिन्हा, भागलपुर विवि के प्राणी विज्ञान विभाग के अध्यक्ष प्रो. एसपी सिन्हा, मगध विवि के डा. अशोक कुमार घोष, पूटा अध्यक्ष डा. यूके सिन्हा ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन अंग्रेजी विभाग के अध्यक्ष डा. अशोक कुमार ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज्यपाल के समक्ष बीएन कालेज के प्राचार्य ने कमियों का रोना रोया