DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करार से बढ़ेगा 150 अरब डॉलर का व्यापार

भारत-अमेरिका व्यापार परिषद (यूएसआईबीसी) ने असैन्य परमाणु सहयोग करार को सीनेट में मिली मंजूरी का स्वागत करते हुए कहा है कि इससे दोनों देशों के बीच 150 अरब डॉलर से भी अधिक के व्यापार का मार्ग प्रशस्त होगा। परिषद के अध्यक्ष रॉन सोमर्स ने कहा कि इस समझौते के साथ ही भारत-अमेरिकी संबंधों के एक नए युग की शुरुआत हुई है। अब भारत न केवल अंतरराष्ट्रीय परमाणु व्यापार की मुख्य धारा में शामिल हो गया है, बल्कि अब वह ऊर्जा सुरक्षा प्राप्त करने के लिए भी काम कर सकता है। उन्होंने कहा कि इससे दोनों देशों के बीच व्यापार की संभावनाओं में भारी इजाफा हुआ है और अगले 30 वर्षो तक दोनों देशों के बीच 150 अरब डॉलर से भी अधिक का व्यापार हो सकता है। उल्लेखनीय है कि भारत के साथ लंबी अवधि के व्यापार की इच्छुक करीब 300 अमेरिकी कंपनियां इसी परिषद की सदस्य हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: करार से बढ़ेगा 150 अरब डॉलर का व्यापार