DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवादा में पुलिस ने 3 अपहर्ताओं को दबोचा

नवादा पुलिस ने शेखपुरा तथा जिला मुख्यालय से तीन अपहर्ताओं को गिरफ्तार कर कई चर्चित अपहरण कांडों का खुलासा किया है। अपहर्ताओं ने पुलिस के समक्ष पूर्व विधायक गौरीशंकर केसरी के पुत्र अरुण केसरी के अपहरण तथा लगभग दो वर्ष पूर्व संतन चौधरी का अपहरण में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। एसपी ने बताया कि गोनावां के मोतीबिगहा से 6 अक्टूबर 06 को अपहृत संतन चौधरी के अपहरण मामले में मिर्जापुर मुहल्ले से मेढ़कुरी निवासी ओमप्रकाश तथा बूथ संचालक हेमंत कुमार को गिरफ्तार किया गया।ड्ढr ड्ढr अपहर्ताओं ने स्वीकार किया कि फिरौती की रकम 5 लाख रुपये नहीं दिये जाने पर संतन चौधरी की हत्या कर शव को रलवे ट्रैक पर फेंक दिया था। अपहर्ताओं ने काशीचक के रंजीत माहुरी अपहरण मामले में भी संलिप्तता स्वीकार की है, जिसे पुलिस के दबाव पर गुरपा (गया) से बरामद किया गया था। दूसरी ओर गब्बे (शेखपुरा) निवासी बालमुकुन्द उर्फ गुड्डू की गिरफ्तारी के बार में पुलिस ने बताया कि पूर्व विधायक पुत्र अरुण केसरी और राजू अपहरण में इसकी मुख्य भूमिका है।ड्ढr ड्ढr अगवा कर शिक्षक ने की छात्र की हत्याड्ढr बड़हराकोठी (पूर्णिया) (नि.सं.)। राजीव साह नामक एक शिक्षक ने अपने ही पांचवीं वर्ग के छात्र धीरन्द्र कुमार (12 वर्ष) का रहस्यमय ढंग से अपहरण कर हत्या कर दी। इस सिलसिले में पुलिस ने मयखण्ड गांव के उक्त शिक्षक और एक अन्य अनिल मंडल को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों से सघन पूछताछ जारी है। हत्या की आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी है मगर परिजन बता रहे हैं कि पहली अक्तूबर को बनमनखी के विष्णुपुर दत्त पंचायत अन्तर्गत मिली लाश धीरन्द्र की ही है। घरवालों ने उसे कपड़े से पहचानने का दावा किया है। घटना के कारणों का पता नहीं चला है। पुलिस के अनुसार धीरन्द्र कंचन टोला रघुवंशनगर के बहादुर मंडल का पुत्र था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नवादा में पुलिस ने 3 अपहर्ताओं को दबोचा