DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बात करने के मूड में नहीं हूं : गांगुली

ऑस्ट्रेलिया के साथ खेली जाने वाली चार मैचों की टेस्ट श्रंखला के पहले दो मैचों के लिए भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल पूर्व कप्तान सौरव गांगुली चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में उस समय गुस्से से तमतमा गए, जब उन्हें अभ्यास सत्र के दौरान अच्छी गेंदबाजी करने वाला एक भी खिलाड़ी नहीं मिला। भारतीय टीम में चयन के बाद गांगुली ने भारत ‘ए’ और न्यूजीलैंड ‘ए’ टीमों के बीच खेले जाने वाले मुकाबले में अभ्यास के तौर पर खेलने का फैसला किया। मैच से पहले जब वे अभ्यास के लिए पहुंचे तो उन्हें गेंदबाजी कराने के लिए एक भी अच्छा खिलाड़ी नसीब नहीं हुआ। गांगुली के सामने ऐसी स्थिति इसलिए आई, क्योंकि भारत ‘ए’ के खिलाड़ी एक दिन के आराम पर थे। गुस्से में गांगुली ने बल्लेबाजी का अभ्यास छोड़ स्लिप में क्षेत्ररक्षण के अभ्यास का फैसला किया। संयोग की बात यह थी कि राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के कोच डेव व्हाटमोर गांगुली की मदद के लिए वहां मौजूद थे, लेकिन गांगुली को उस समय निराशा हाथ लगी जब व्हाटमोर के पास गेंद फेंक रहे सहायक ने बार-बार गलतियां करनी शुरू कर दीं। इस बार गांगुली ने स्टेडियम छोड़ने का फैसला किया। बाहर जाते वक्त जब पत्रकारों ने उनसे गुस्से का कारण जानना चाहता तो उन्होंने कहा, ‘‘मुझे बाध्य मत कीजिए। मैं अभी बात करने के मूड में नहीं हूं।’’ हालांकि व्हाटमोर ने कहा कि गांगुली अच्छी तरह अयास करना चाहते थे, लेकिन माहौल नहीं बन पाने के कारण उन्हें गुस्सा आ गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बात करने के मूड में नहीं हूं : गांगुली