अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

40 दलितों के 60 घरों को फूंका

राजनगर थाने के रांटी बरई टोली मुसहरी में शुक्रवार की सुबह उपद्रवियों ने करीब 40 दलितों के 60 घरों को फूंक दिया। उपद्रवियों ने दलितों के साथ मारपीट भी की, जिसमें आधे दर्जन लोग घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए राजनगर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल आगजनी से पीड़ित परिवारों ने पेड़ों की छांव में शरण ले रखा है। इस घटना से गांव एवं आसपास के क्षेत्र में तनाव बना हुआ है। मधुबनी के एसपी राकेश राठी, डीएसपी अश्विनी कुमार, बीडीओ सुनील तिवारी सहित थानाध्यक्ष एवं पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर कैम्प कर रहे हैं। उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी गयी है।ड्ढr ड्ढr अबतक आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। घटना का कारण बगल के सर्वाडीह नहर में मछली मारने के सवाल पर उपजा विवाद बताया जा रहा है। एसपी राकेश राठी ने बताया कि 22 अप्रैल को मछली मारने गयी दलित महिलाओं के साथ मारपीट हुई थी। फिर इसी वजह से 23 अप्रैल की शाम दोनों पक्षों में मारपीट हुई। इसकी परिणति शुक्रवार की यह घटना है। शुक्रवार की सुबह बगल के मोहनपुर गांव के कुछ लोगों ने मुसहर टोली पर आक्रमण किया, जिसका प्रतिवाद दलित समुदाय के लोगों ने पथराव कर किया। इसी क्रम में उपद्रवियों ने दलित परिवारों के घरों में आग लगा दी। एसपी ने बताया कि इस घटना को राजनीतिक रंग देकर चुनाव से जोड़ने की कोशिश की जा रही है।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि इस संबंध में मोहनपुर गांव के लोगों के विरुद्ध राजनगर थाना में प्राथमिकी दर्ज की गयी है। स्थिति पूर्णत: नियंत्रण में है। कहा जा रहा है उपद्रवियों ने दलित टोले की महिलाओं को घर से निकालकर पीटा और घर में रखे सामान को भी फेंक दिया। घटना में चार बकरियां समेत दो लाख रुपये की परिसम्पत्ति के क्षति होने का अनुमान है। घटना में जख्मी बुधु सदाय, चरित्र सदाय, अमोला देवी का इलाज राजनगर अस्पताल में चल रहा है। फिलहाल विभिन्न दलों के नेता एवं कार्यकर्ताओं का आना जाना शुरू हो गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 40 दलितों के 60 घरों को फूंका