DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5 हजार कारतूसों के साथ तीन धराए

शनिवार का दिन नालंदा पुलिस के लिए उपलब्धियों से भरा रहा। पुलिस ने 5000 जिंदा कारतूस के साथ तीन युवकों को दबोचने में सफलता हासिल की है। गिरफ्तार युवकों के पास से इंसास की मैगजीन भी मिली है। पुलिस को मिली इस बड़ी सफलता के लिए डीजीपी ने छापेमारी में शामिल अधिकारियों को पुरस्कृत करने की घोषणा की है। पुलिस अधीक्षक विनीत विनायक ने बताया कि शुक्रवार की रात्रि में जिला सूचना इकाई को एक संदेश मिला। सूचना के आधार पर बिहारशरीफ आने वाली तमाम राहों पर गश्ती बढ़ा दी गयी।ड्ढr ड्ढr शनिवार की अहले सुबह राजगीर मोड़ पर टाटा स्पेशियो गाड़ी में चेकिंग के दौरान 315 बोर की तीन हजार, 12 बोर की 1600 तथा प्वाइंट थर्टी टू बोर की 400 गोलियां मिलीं। कार पर सवार तीन युवकों को भी दबोचा गया। गिरफ्तार युवकों में स्थानीय गढ़पर निवासी रामकुमार उर्फ लल्लू, उतरनावां (रहुई) के नवीन निश्चल व रहुई बाजार के संजय कुमार शामिल हैं। एसपी ने बताया कि लल्लू के घर में गोली छुपाकर रखने के लिए बने दो तहखाने भी मिले हैं जिससे यह साबित होता है कि गोली बेचने का उसका धंधा पुराना है। गिरफ्तार युवकों के पास से अत्याधुनिक हथियार इंसास की मैगजीन की बरामदगी ने पुलिस महकमे में खलबली मचा दी है। एसपी का कहना है कि बरामद गोलियां भारतीय आयुध कारखाना, खड़की (पूणे) व कानपुर की बनी हुई हैं। बैच नम्बर को ब्लैक इंक से रंग दिया गया है। बरामद सामान के नमूनों को विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया है। गिरफ्तार युवकों से पूछताछ जारी है। जांच में शहर के नामी-गिरामी कई लोगों के फंसने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 5 हजार कारतूसों के साथ तीन धराए