DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब अंतरराष्ट्रीय अंपायरों ने की मैच फिक्सिंग

अब अंतरराष्ट्रीय अंपायरों ने की मैच फिक्सिंग

एक टेलीविजन स्टिंग आपरेशन में सोमवार को दावा किया गया कि छह अंतरराष्ट्रीय अंपायर कथित तौर पर पैसे के लिए हाल में संपन्न टी20 क्रिकेट विश्व कप और श्रीलंका प्रीमियर लीग के मैच फिक्स करने को तैयार थे।

एक समाचार चैनल ने वीडियो क्लिप दिखाई जिन्हें उनके अंडरकवर रिपोर्टर ने बनाया है। इन क्लिप में अंपायरों को कथित तौर पर पैसे के लिए निश्चित फैसले देने के लिए हामी भरते हुए दिखाया गया है। टीवी स्टिंग आपरेशन में जो छह अंपायर कथित तौर पर मैच फिक्स करने के लिए राजी हुए हैं वे पाकिस्तान के नदीम गौरी और अनीस सिदिदकी, बांग्लादेश के नादिर शाह और श्रीलंका के गामिनी दिसानायके, मारिस विन्सटन और सागरा गालागे हैं।

गौरी और शाह ने इन आरोपों को बकवास बताया है जबकि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष मुस्तफा कमाल ने कहा कि वह विस्तृत जानकारी हासिल करने के बाद इस मामले की जांच करेंगे। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने कहा कि परिषद और इसके संबंधित सदस्यों को इंडिया टीवी ने आरोपों से अवगत करा दिया है और उन्होंने चैनल से ऐसी सूचनाएं मुहैया कराने को कहा है जो इस मामले में आईसीसी की आपात जांच में सहायक हों।

आईसीसी ने एक बयान में दोहराया कि वह किसी तरह का भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं करेगा फिर चाहे आरोप खिलाड़ी के खिलाफ हों या अधिकारी के। आईसीसी ने साथ ही कहा कि जिन अंपायरों पर आरोप लगा है उनमें से कोई भी कल संपन्न आईसीसी विश्व टी20 चैम्पियनशिप के आधिकारिक मैचों का हिस्सा नहीं था।

इंडिया टीवी के अध्यक्ष और एडिटर इन चीफ रजत शर्मा ने कहा कि अगर टेप की विश्वसनीयता पर कोई सवाल उठता है तो वे जांच के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि यह क्रिकेट के लिए अनुचित है कि अंपायर आपराधिक कार्य करने को तैयार हैं।

आईसीसी के अंपायरों के अंतरराष्ट्रीय पैनल में शामिल गौरी ने अपने खिलाफ लगे आरोपों को बकवास बताया और दावा किया कि उन्होंने कभी पाकिस्तान के बाहर अंपायरिंग नहीं की। बांग्लादेश के अंपायर नादिर शाह ने भी अपने ऊपर लगे आरोपों को खंडन किया।

बीसीबी अध्यक्ष मुस्तफा कमाल ने कहा कि वह विस्तृत जानकारी हासिल करने के बाद मामले की जांच करेंगे। कमाल ने कहा कि मुझे भी मीडिया से इसकी जानकारी मिली। इसलिए मैं कोई प्रतिक्रिया देने की स्थिति में नहीं हूं। लेकिन अगर यह (आरोप) सच है तो निश्चित तौर पर हम इसकी जांच कराएंगे। लेकिन हमें विस्तृत जानकारी मिलने तक इंतजार करना होगा। शाह ने कहा कि मैंने कभी कोई मैच फिक्स नहीं किया।

उन्होंने कहा कि यह बिलकुल बकवास है। अगर मैं कोई मैच फिक्स करूंगा तो आईसीसी कभी न कभी मुझे पकड़ लेगा। उन्होंने प्रायोजक बनकर मुझसे संपर्क किया था लेकिन मैं उनसे सहमत नहीं हुआ। कोई अंपायर मैच फिक्स नहीं करता। चैनल ने अंपायरों के साथ अपने अंडरकवर रिपोर्टर की फुटेज दिखाई जिसमें कुछ में अंपायरों को वित्तीय लाभ के बदले में उनकी मर्जी के फैसले देने का वादा करते हुए दिखाया गया है।

चैनल के मुताबिक शाह ने खेल के किसी भी प्रारूप में आउट या नाटआउट के फैसले देने की पेशकश की थी। उन्होंने 40 से अधिक वनडे मैचों में अंपायरिंग की है। वह छह टेस्ट में टीवी अंपायर और तीन टेस्ट में रिजर्व अंपायर रह चुके हैं।
 चैनल के मुताबिक गौरी किसी भी तरह से टीम इंडिया की मदद करने को राजी हो गए थे। वह सभी पैसा कालेधन के रूप में चाहते थे। उन्होंने 43 वनडे, 14 टेस्ट और चार टी20 मैचों में अंपायरिंग की है।
चैनल के मुताबिक गालागे श्रीलंका प्रीमियर लीग के अंपयार हैं और वह भारत और पाकिस्तान के बीच 17 सितंबर को हुए विश्व टी20 मैच में चौथे अंपायर थे। वह 50000 एपये के ऐवज में पिच रिपोर्ट, मौसम और दोनों टीमों की अंतिम एकादश से जुड़ी जानकारी देने को राजी हो गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब अंतरराष्ट्रीय अंपायरों ने की मैच फिक्सिंग