DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रलय के 48 दिन बाद भी पीड़ितों को राहत नहीं

राजद ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के तीन वर्ष के कार्यकाल से राज्य की जनता बेहद निराश है। जनता के लिए यह दौर जानलेवा साबित हुआ है। कोसी की धारा में बहे हाारों लोग इसके उदाहरण हैं। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्याम राक और प्रदेश महासचिव डा. निहोरा प्रसाद यादव ने कहा कि कोसी की जनता के साथ क्रूर मजाक करने के बाद राज्य सरकार अपनी पीठ थपथपा रही है। मुख्यमंत्री यह कहकर एक और मजाक कर रहे हैं कि विकास का काम ईमानदारी से किया जा रहा है।ड्ढr ड्ढr राजद ने कहा कि जिस समय कोसी के लाखों लोग जीवन और मौत से संघर्ष कर रहे थे, उस समय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक अणे मार्ग में लोकसभा चुनाव की रणनीति बना रहे थे। प्रलय के 48 दिन गुजर जाने के बाद भी बाढ़पीड़ितों को राहत नहीं मिल पाई है। सरकारी आंकड़े के मुताबिक 32 लाख से अधिक लोग बाढ़ से पीड़ित हुए। अबतक सिर्फ ढाई लाख लोगों तक खाद्यान्न वितरित किया गया। 10 व्यक्ित पर एक फू ड पैकेट के हिसाब से एयर ड्रॉपिंग की गई। वह भी आधे से अधिक पानी में गिर गया। राजद ने कहा कि 25 व्यक्ित पर एक पॉलीथिन शीट, एक व्यक्ित पर 111 ग्राम चूड़ा, 37 ग्राम सत्तू और 18-18 ग्राम नमक और गुड़ दिए गए। 1व्यक्ित पर एक बोतल पानी दिया गया। राजद ने सरकार से पूछा कि उसके दावे के मुताबिक सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए 10 लाख लोगों में छह लाख लोग कहां हैं। क्योंकि सरकार ने इनमें से सिर्फ तीन लाख बयालीस हाार लोगों को शिविरों में शरण देने का दावा किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्रलय के 48 दिन बाद भी पीड़ितों को राहत नहीं