DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रचंड पर अध्यक्ष पद छोड़ने का दबाव

नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहाल ‘प्रचंड’ पर माओवादी पार्टी के प्रमुख का पद छोड़न के लिए उनकी पार्टी के भीतर से दबाव बढ़ने लगा है। प्रचंड ने जब प्रधानमंत्री पद की शपथ ली तो राजनीतिक पार्टियां की मांग का सम्मान करते हुए पार्टी की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी क प्रमुख का पद छोड़ दिया था। अंतरराष्ट्रीय समुदाय और नपाल की मुख्य धारा की राजनीतिक पार्टियों न मांग की थी कि सशस्त्र बल क प्रमुख को नागरिक सरकार का मुखिया नहीं बनना चाहिए। अब पार्टी क कट्टरपंथी नता मांग कर रह हैं कि एक व्यक्ति एक पद क सिद्धांत का सम्मान करत हुए प्रंचड को माओवादी पार्टी क प्रमुख का पद छोड़ दना चाहिए। प्रचंड को पार्टी प्रमुख पद स हटान की मुहिम का नतृत्व मोहन विद्या ‘किरन’ कर रह हैं। प्रचंड क प्रधानमंत्री बनन क बाद किरन को माओवादी सचिवालय का प्रमुख चुना गया है। परंतु अब किरन और प्रचंड क खेमों क बीच वैचारिक मतभेद बढ़न लगा है। असंतुष्टों की यह भी मांग है कि भविष्य मं पार्टी की अकली सरकार बनान जस अन्य रणनीतिक मुद्दों पर चर्चा क लिए पार्टी का राष्ट्रीय सम्मलन बुलाया जाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्रचंड पर अध्यक्ष पद छोड़ने का दबाव