अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीलंका में युद्धबंदी पर एक साथ भारत-यूएस

अमेरिका ने श्रीलंका में सेना और तमिल विद्रोहियों के बीच जारी युद्ध खत्म कराने के भारतीय प्रयासों के प्रति समर्थन व्यक्त किया है। अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता राबर्ट वुड ने भारत की ओर से दो विशेष दूत श्रीलंका भेजे जाने का उेख करते हुए शुक्रवार को कहा, ‘‘हम लड़ाई रुकवाने के भारतीय प्रयासों का समर्थन करते हैं।’’ भारत ने श्रीलंका में जारी लड़ाई के प्रति चिंता व्यक्त करने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एम के नारायणन और विदेश सचिव शिवशंकर मेनन को कोलंबो ोजा था। वुड ने कहा कि अमेरिका सरकार श्रीलंका और भारत की सरकारों के नियमित संपर्क में है, लेकिन फिलहाल कोई दूत कोलंबो नहीं ोजा जाएगा। वुड ने कहा, ‘‘युद्ध वर्जित क्षेत्र में बचे नागरिकों की सुरक्षा के प्रति हम बेहद चिंतित हैं।’’ युद्ध प्रभावित क्षेत्रों से हजारों नागरिक पलायन कर चुके हैं और कई मारे जा चुके हैं तथा हजारों लोग अभी तक वहीं फंसे हुए हैं। श्रीलंका सरकार और तमिल विद्रोहियों से लड़ाई रोकने का अनुरोध करते हुए अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि विद्रोहियों को नागरिकों को ढाल के रूप में इस्तेमाल करना तथा उन्हें नुकसान पहुंचाना बंद कर देना चाहिए और उन्हें तीसरे पक्ष के समक्ष हथियार डाल देने चाहिए। वुड ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को लड़ाई बंद कराने में भूमिका निभाने के लिए तैयार रहना चाहिए। उन्होंने अमेरिका युद्ध वर्जित क्षेत्र में सहायता कर्मियों का दल ोजने के संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून के फैसले के हक में है। अमेरिका ने श्रीलंका सरकार से युद्ध वर्जित क्षेत्र में दल भेजने, आपूर्ति ोजने की इजाजत देने और विस्थापितों के बारे में सूचनाएं संयुक्त राष्ट्र के साथ बांटने का भी अनुरोध किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: श्रीलंका में युद्धबंदी पर एक साथ भारत-यूएस