अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वो कहीं नहीं गए यारो

दारूबंदी कानून लागू होने के दौरान फुल पेंट पहनने और दाढ़ी छीलने की शुरुआत करने वालों को वो मंजर जरूर याद आते होंगे जब आर्मी कैंटीन से जसे-तैसे दारू की बोतल खरीद कर किसी एसी जगह फटाफट गले के नीचे उतारने की होड़ लग जाती थी, जहां कानून मर चूहे की सी बांस मार रहा हो। वो जगह किसी गली-कूचे से लेकर कॉलेज की लायब्रेरी तक हुआ करती थी। यह काम तो फिर भी लुक-छिप कर किया जाता था क्योंकि मामला मर्यादा से जुड़ा था, जिसकी तब बड़ी पूछ और पहुंच हुआ करती थी। रोमांच अलग। लेकिन सामाजिकता से जुड़े सदियों से चले आ रहे बाल विवाह और दहेा प्रथा के मामले किसी भी तरह के कानून की परवाह न करते हुए आज भी गगन पर सितारों की तरह चमक रहे हैं। दो साल पहले भी ठीक इन्हीं दिनों में एक कानून और बना था, जिसमें बाल श्रम पर प्रतिबंध लगाने की बात थी और जिसके लागू हो जाने के बाद मीडिया चिल्ला-चिल्ला कर कह रहा था कि इसका असर देश भर के लाखों घरों, ढाबों, फैक्िट्रयों और दुकानों पर दिखेगा। लेकिन वह अति उत्साह में यह भूल गया कि हमार देश में जो कानून बनते हैं तो उनकी तोड़ पहले निकल आती है। और अब सरकारी आंकड़े कुछ भी कहें लेकिन हाल दो साल पुराना ही है। चाहे घर हों या ढाबे, फैक्टरी हो या टायर-ट्यूब में पंक्चर लगाने का टप्पर, उपस्थिति रािस्टर 8 से 16 साल की उम्र वालों से पूरी तरह फुल है। हमार देश में कानून बन जाने के बाद कानून लागू करने वाली मशीनरी ट्रैफिक के उस सिपाही की तरह है, जो खाकी रंग की निकर तो पहने है, लेकिन कमीज गायब है। इसके चलते लाख कानून बन जाएं, बच्चे या तो अल्ल सुबह नींद के झोंकों के बीच ढाबे की भट्टी सुलगा रहे हैं या थाली मांज रहे हैं और किसी फैक्ट्री में अपना बचपन गला रहे हैं। यह निगरानी मशीनरी दारूबंदी के समय कॉलेज लायब्रेरी तक में दारू के अड्डे खुलवा देती है और बाल विवाह निवारण कानून के लागू होने के सालों बाद भी किसी मंत्री या नेता द्वारा कराए सामूहिक विवाह में ज्यादातर जोड़े 18 साल साल से कम के होते हैं। वैसे भी हमने बाल श्रम निषेध कानून बना कर एसा कौन-सा तीर मार लिया, जो उन्हें काम से हटा कर उनके घर चूल्हे जलवा दे या उनका भविष्य कुछ बेहतर कर दे। घर का चूल्हा जलता रहे इसका विकल्प तब भी नहीं सोचा गया था और आज तो हम इसी में मगन हैं कि अहा, एसे किसी कानून का वजूद तो है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वो कहीं नहीं गए यारो