DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिजर्व बैंक ने संभाली रुपए की गिरावट

शेयर बाजारों में भारी बिकवाली से रुपए पर लगातार बने दबाव को देखते हुए अंतर बैंकिंग विदेशी मुद्रा बाजार में शुक्रवार को रिजर्व बैंक ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के जरिए डालर की बिकवाली की जिससे रुपया रिकार्ड गिरावट के बाद कुछ संभलने में सफल रहा। कारोबार की शुरुआत में ही शुक्रवार को एक डालर की कीमत अब तक के रिकार्ड स्तर 40 रुपए पर पहुंच गई। डीलरों के मुताबिक इसके बाद रिजर्व बैंक सक्रिय दिखा और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के जरिए करीब ढाई अरब डालर बाजार में झौंके जिससे रुपए को थोड़ी राहत मिली। देश के शेयर बाजारों में भारी गिरावट थी। बम्बई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स सात प्रतिशत अर्थात 801 अंक के नुकसान में रहा। कारोबार की समाप्ति पर एक डालर की कीमत बुधवार के 47.01 रुपए की तुलना में करीब 42 पैसे अर्थात 0.8 प्रतिशत बढ़कर 48.38-48.43 रुपए पर बंद हुई। रिजर्व बैंक ने तेजी से कदम उठाते हुए बैंकों के नगद सुरक्षित अनुपात (सीआरआर) में एक प्रतिशत और कटौती करने की घोषणा की। इस प्रकार एक सप्ताह के दौरान बैंक सीआरआर डेढ़ प्रतिशत कमी कर चुका है। शनिवार से लागू होने वाली इस कटौती से बैंकिंग तंत्र में 60 हजार करोड़ रुपए की नगदी बढ़ेगी। डीलरों का कहना है कि जो स्थिति बनी हुई है उसे देखते हुए एक डालर की कीमत 50 रुपए की तरफ बढ़ती नजर आ रही है। विदेशी कोष निरंतर बिकवाल बने हुए है और यह रुपए पर भारी पड़ रहा है। पिछले साल विदेशी निवेशकों ने 17 अरब 40 करोड़ डालर का निवेश किया था और डालर के मुकाबले रुपए ने 12 प्रतिशत की छलांग लगाई थी जबकि इस वर्ष इनकी 10 अरब डालर से अधिक की बिकवाली ने इस स्थिति को पूरी तरह उलट दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रिजर्व बैंक ने संभाली रुपए की गिरावट