DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोठे पर जाओगे तो तीन माह की सजा पाओगे

अनैतिक देह व्यापार प्रतिबंध अधिनियम (संशोधित ) विधेयक संसद के 17 अक्तू. से शुरू हो रहे सत्र में पेश किया जा सकता है। इस अधिनियम में सरकार ने 5 सी की धारा जोड़ते हुए वैश्यालय में पकड़े गए ग्राहकों को सजा देने की बात कही है। लेकिन, इसकी भाषा काफी भ्रामक है। इसके अंतर्गत वेश्यालय में पहली बार पकड़े गए ग्राहकों को 3 माह की जेल से लेकर 20 हाार रु. तक के जुर्माने का प्रावधान है। दूसरी व तीसरी बार पकड़े जाने पर 6 माह की जेल से लेकर 50 हाार तक का जुर्माना भरने का प्रावधान किया गया है। वर्तमान कानून के अंतर्गत ग्राहक पटाना, वेश्यालय चलाना व वेश्यावृत्ति को आजीविका बनाना गैरकानूनी माना गया है। पर, अब ग्राहक भी लपेटे में आ जाएंगे। वर्ष 2006 में संसद में संशोधित विधेयक लाने पर सरकार को विरोध का सामना करना पड़ा था, जिसके चलते इसे स्थायी सीिमति को सौंप दिया गया था। विधेयक की 5 सी धारा का भारी विरोध किया गया था। विशेषकर सेक्स वर्करों का कहना है कि इससे सभी वेश्यालय भूमिगत होकर चलने लगेंगे। सेक्स वर्करों का मानना है कि इससे आजीविका में भी बाधा आएगी। उन्होंने देह व्यापार को कानूनी दर्जा दिए जाने की मांग की थी। स्थायी समिति ने सेक्स वर्करों के देह व्यापार को कानूनी दर्जा दिए जाने की मांग को अस्वीकृत कर कहा है कि 5सी धारा को जिस रूप में लिखा गया है, वह बहुत भ्रम फैलाने वाला है। इस धारा की भाषा ठीक की जानी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोठे पर जाओगे तो तीन माह की सजा पाओगे