अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांशीराम की याद में 30 अरब के तोहफे

बसपा के संस्थापक अध्यक्ष स्वर्गीय कांशीराम की द्वितीय पुण्यतिथि पर मुख्यमंत्री मायावती ने सूबे को तीस अरब की लागत की 158 योनाओं की सौगात दी। गुरुवार को अपने सरकारी आवास पाँच कालिदास मार्ग पर आयोित श्रद्धाांलि समारोह में मुख्यमंत्री ने बटन दबाकर इन सभी योनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने स्वर्गीय कांशीराम के चित्र पर पुष्प अर्पित कर अपनी भावभीनी श्रद्धाांलि दी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कांशीराम के अधूर कार्यो को पूरा कियाोाएगा और कांशीरामोी के बताए हुए मार्ग पर चलकर ही प्रदेश के विकास को नई दिशा देने का हर संभव प्रयास होगा।ड्ढr मुख्यमंत्री ने योनाओं का ब्योरा देते हुए कहा कि मान्यवर कांशीराम शहरी गरीब आवास योना के तहत सभी 71ोिलों में गरीबी रखा से नीचे रहने वालों को दो कमर के मुफ्त एक लाख एक हाार आवास मिलेंगे। इनको गृहकर वोलकर से छूट दीोाएगी। इन आवासों में 23 प्रतिशत अनुसूचितोाति वोनााति, 27 प्रतिशत पिछड़े वर्ग और 50 प्रतिशत सामान्य वर्ग के लिए आरक्षण होगा। डॉ.शंकुतला मिश्रा उत्तर प्रदेश विकलांग विश्वविद्यालय लखनऊ में मोहान रोड पर 71 एकड़ भूमि पर बनेगा। मान्यवर कांशीराम बहुान नायक पार्क लखनऊ में बनाया गया है। डॉ.राम मनोहर लोहिया संयुक्त चिकित्सालय गोमती नगर लखनऊ से लगे मेडिकल कॉलेा नए भवन के लोकार्पण से मेडिकल कॉलेा शुरू हो सकेगा। लखनऊ के ही गोमती नगर विस्तार योना में अमर शहीद पथ पर डॉ भीमराव अम्बेडकर अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम बनेगा। इसके लिए प्रदेश सरकार ने ग्राम अरदौना मऊ की 51.हेक्टेयर ग्राम समाा की भूमि का पुनग्र्रहण करते हुए खेल विभाग को उपलब्ध करा दिया है। इसके अलावा लखनऊ की नई ोल का भवन बनेगा।ड्ढr मुख्यमंत्री ने कहा कि कांशीराम ने अपना पूराोीवन अपना घर-परिवार छोड़कर दलितों, शोषितों और पिछड़ों को अपने पैरों पर खड़ा करने में समर्पित कर दिया था। उन्हीं के आशीर्वाद से उन्हें चार बार मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला। अब केंद्र में पार्टी कोोो महत्व मिला है, उसके पीछे भी स्वर्गीय कांशीराम की कड़ी मेहनत है।ड्ढr मुख्यमंत्री ने इस बात पर अफसोसोताया कि एसे महान व्यक्ितत्व की मृत्यु पर उस समय देश के सभी दलों के राानेताओं ने घड़ियालू आँसू बहाए, लेकिन एक दिन का भी राष्ट्रीय शोक घोषित नहीं किया।ड्ढr यूपी में तत्कालीन सपा सरकार ने भी एक दिन का रााकीय शोक घोषित नहीं किया। यहाँ तक कि केंद्र सरकार ने उनको भारत रत्न देने की माँग को भी ठुकरा दिया।ड्ढr समारोह में विधानसभा अध्यक्ष सुखदेव रााभर, राय सलाहकार परिषद के अध्यक्ष सतीश चंद्र मिश्र, लोक निर्माण मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, सहकारिता मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, कैबिनेट सचिव शशांक शेखर सिंह, मुख्य सचिव अतुल कुमार गुप्ता और मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव विाय शंकर पांडेय आदि प्रमुख लोग उपस्थित थे। मुख्य योनाएँ अंतरराष्ट्रीय खेल स्टेडियम गोमती नगर लखनऊड्ढr बहुान नायक मान्यवर कांशीराम पार्क लखनऊड्ढr मान्यवर कांशीराम शहरी गरीब आवास योना (सभी 71ोिलों में)ड्ढr डॉ.शकुंतला मिश्रा विकलांग विश्वविद्यालय मोहान रोड लखनऊड्ढr एनेक्सी सचिवालय मीडिया सेंटरड्ढr लखनऊ ोल का नया भवनड्ढr डॉ.लोहिया मेडिकल कालेा इंस्टीट्यूट भवन गोमती नगर लखनऊड्ढr मान्यवर कांशीराम शहरी समग्र विकास योना (सभीोिलों में)ड्ढr मार्गो के अनुरक्षण एवं गड्ढा मुक्ित की विशेष योना (सभीोिलों में)ड्ढr ग्रामीण मार्गो का सुधार एवं निर्माण योना (सभीोिलों में)ड्ढr प्रदेश के महत्वपूर्ण मार्गो का चौड़ीकरण एवं सुधार योनां

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कांशीराम की याद में 30 अरब के तोहफे