अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व सैनिकों ने दिया सरकार को आखिरी अल्टीमेटम

नौकरशाहों पर देश के राजनीतिक नेताआें को गुमराह करने के सैन्य अधिकारियों के आरोपों में सुर में सुर मिलाते हुए पूर्व सैनिकों ने अपने सशस्त्र बलों के मुद्दों का शीघ्र समाधान करने का आखिरी अल्टीमेटम दिया है। भारतीय पूर्व सैनिक मूवमेंट के उपाध्यक्ष मेजर जनरल सतबीर सिंह ने एक बयान में कहा कि अगर सैन्य बलों द्वारा उठाए गए मामलों को समाधान नहीं किया गया तो वे 20 अक्टूबर से देशव्यापी आंदोलन छेड़ देंगे। उन्होंने कहा कि अब यह सबके सामने आ गया है कि सभी संबद्ध मंत्रालयों और विभागों ने राजनीतिक नेताआें को गुमराह किया और तथ्यों को छिपाया एवं हेराफेरी की। जनरल सतबीर सिंह ने कहा कि नौकरशाहों ने रक्षा सेवाआें को लगातार धोखा दिया और जिससे उनके आत्मसम्मान को ठेस पहुंची और उन्हे आत्म दलन का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि सरकार ने पूर्व सैनिकों की मांगों की भी अभी तक अनदेखी की है, जिनमें एक रैंक, एक पेंशन, संसद के कानून के तहत 60 साल तक की आश्वस्त नौकरी या इस आयु तक आखिरी वेतन को पेंशन के रूप में दिलाने और पूर्व सैनिकों का ऐसा आयोग गठित करने की मांग भी शामिल है, जिसके सभी सदस्य पूर्व सैनिक हों। मेजर जनरल सतबीर सिंह ने कहा कि अगर हमारी मांगे नहीं मानी गईं तो हमें आंदोलन तेज करने पर मजबूर होना पड़ेगा और पूर्व सैनिक देशभर में 20 अक्टूबर से क्रमिक अनशन शुरू कर देंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पूर्व सैनिकों ने दिया सरकार को आखिरी अल्टीमेटम