DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब सारा दारोमदार गेंदबाजों पर : द्रविड़

पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने शनिवार को कहा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम पर दूसरी पारी में दबाव बनाने के लिए भारतीय गेंदबाजों को बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा। पहले क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद द्रविड़ ने यहां संवाददाताओं से कहा कि विकेट में अब दरारें भी पड़नी शुरू हो गई है और इससे गेंदबाजों को काफी फायदा मिल सकता है। द्रविड़ ने कहा कि अगर भारतीय गेंदबाज रविवार को शानदार प्रदर्शन करें तो भारत को इसका फायदा मिल सकता है। शीर्ष क्रम की असफलता के बारे में पूछने पर पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा कि विकेट अच्छी नहीं है और इससे सचिन तेंदुलकर या वी वी एस लक्ष्मण ही नहीं किसी भी बल्लेबाजों को मदद नहीं मिल रही है। उन्होंने कहा कि गेंद दरारों में पड़ने के बाद अचानक ऊंची रह जा रही है या फिर नीची ऐसे में बल्लेबाजों को शुरुआत में विकेट पर टिकने में मुश्किल हो रही थी। हालांकि हरभजन सिंह और जहीर खान ने आठवें विकेट के लिए बेशकीमती 80 रन की साझेदारी कर टीम की स्थिति थोड़ी अच्छी कर दी। हमारे पुच्छल्ले बल्लेबाजों ने नई गेंद का सामना बड़ी ही जांबाजी से किया। द्रविड़ ने कहा कि मैच अब भी खुला है और जो भी टीम अच्छा खेलेगी वह जीत जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर हम कल अच्छी गेंदबाजी करें तो यह हमारे पक्ष में भी जा सकता है। यह पूछने पर कि क्या भारत का टॉस हारना उसके खराब प्रदर्शन का कारण रहा उन्होंने कहा कि इस तरह की विकेट पर यह सही हो सकता है लेकिन केवल यही एक कारण नहीं हो सकता है। (वार्ता) उधर, छींटाकशी की पिछली खटास अभी मिट नहीं पाई थी कि तेज गेंदबाज जहीर खान ने पहले टेस्ट के तीसरे दिन आज कंगारू टीम के विकेटकीपर ब्रैड हैडिन द्वारा छींटाकशी किए जाने की शिकायत कप्तान रिकी पोंटिंग से की। छींटाकशी की घटना चायकाल के बाद उस वक्त हुई जब पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली के पैवेलियन लौटने के बाद जहीर खान क्रीज पर पहुंचे। जहीर द्वारा दो गेंदों को सीमा पार भेजे जाने के बाद जॉनसन तिलमिला गए। इसके बाद विकेट के पीछे से हैडिन ने जहीर पर कुछ छींटाकशी की और मुंबई के इस खिलाड़ी ने मेहमान टीम के कप्तान को इसकी शिकायत की

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब सारा दारोमदार गेंदबाजों पर : द्रविड़